टीआईपीआरए मोथा ने त्रिपुरा जनजातीय क्षेत्र स्वायत्त जिला परिषद (टीटीएएडीसी) के तहत ग्राम समितियों के चुनाव कराने में देरी पर एक आंदोलन शुरू करने का फैसला किया है। टीआईपीआरए मोथा के अध्यक्ष बिजॉय कुमार हरंगखाल ने कहा कि पार्टी राज्य भर में रैलियां करेगी और सभी आठ जिलाधिकारियों के माध्यम से राज्यपाल तक इस मामले को पहुंचाएगी। 

उन्होंने कहा कि रैलियों की योजना पहले 18 फरवरी को रखी गई थी, लेकिन अब एक दिन पहले 17 फरवरी को आयोजित की जाएगी। टीआईपीआरए मोथा के अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी ने राज्यपाल से मिलने का समय मांगा था, जिसमें विफल रहने पर उन्होंने सडक़ों पर उतरने का फैसला किया।  बिजॉय कुमार हरंगखाल ने कहा कि TTAADC राज्य के 70 प्रतिशत क्षेत्र में फैला है और त्रिपुरा में 30 प्रतिशत से अधिक आदिवासी आबादी का घर है। यह स्थानीय रूप से 587 ग्राम समितियों के माध्यम से प्रशासित है। इन समितियों के चुनाव मार्च 2021 में होने थे, लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण इसमें देरी हुई है। उन्होंने कहा कि समय पर चुनाव का आयोजन क्यों नहीं कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कोविड -19 महामारी के बहाने चुनाव स्थगित कर दिए गए थे, लेकिन अगर कई राज्यों में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं, तो टीटीएएडीसी में चुनाव में और देरी करने का कोई कारण नहीं है।अगर मतदान में और देरी हुई तो एक बड़ा आंदोलन किया जाएगा।