त्रिपुरा पुलिस (Tripura Police) ने ट्विटर (Twitter) से राज्य में हाल ही में हुई सांप्रदायिक झड़पों को लेकर गलत सामग्री फैलाने के आरोप में 68 अकाउंट को बंद करने के लिए कहा है। पुलिस ने कहा कि इन अकाउंट का इस्तेमाल राज्य में कथित मस्जिद तोड़फोड़ के संबंध में आपत्तिजनक और गलत सामग्री पोस्ट करने के लिए किया गया। इन सभी 68 अकाउंट के खिलाफ कड़े यूएपीए के तहत शिकायत दर्ज की गई है।

पश्चिम त्रिपुरा जिला पुलिस ने एक पत्र में अमेरिका के कैलिफोर्निया में अपने आधिकारिक पते पर ट्विटर के शिकायत अधिकारी को सभी 68 प्रोफाइलों के लिंक का उल्लेख करते हुए पत्र भेजा था।

इस पत्र में लिखा है कि कुछ व्यक्ति/संगठन राज्य में मुस्लिम समुदायों की मस्जिदों पर हालिया झड़प और कथित हमले के संबंध में ट्विटर पर गलत और आपत्तिजनक खबरें या बयान पोस्ट कर रहे हैं।

इन प्रोफाइल पर कुछ समाचारों या पोस्ट में कुछ अन्य घटनाओं की तस्वीरें या वीडियो, आपराधिक साजिश के तहत धार्मिक समूहों और समुदायों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने के लिए मनगढ़ंत बयान या टिप्पणी शामिल हैं। पत्र में लिखा गया है कि पोस्ट में विभिन्न धार्मिक समुदायों के लोगों के बीच त्रिपुरा राज्य में सांप्रदायिक तनाव भड़काने की क्षमता है, जिसके परिणामस्वरूप सांप्रदायिक दंगे हो सकते हैं।