बांग्लादेश (Bangladesh) में पिछले दिनों दुर्गा पूजा (Durga puja) पंडालों में हुई तोड़फोड़ के खिलाफ त्रिपुरा (Tripura) में हिंदू संगठनों की कई रैलियों के बीच त्रिपुरा राज्य जमीयत उलमा (हिंद) ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के ऑफिस को एक ज्ञापन सौंपा है। इसमें पिछले तीन दिनों में मस्जिदों और अल्पसंख्यक बस्तियों पर हमले का आरोप लगाया गया है।

वहीं इस पूरे मामले में त्रिपुरा पुलिस (Tripura Police) के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि कुछ छिटपुट घटानाएं हुई थीं, लेकिन कानून-व्यवस्था की कोई बड़ी घटना नहीं हुई थी। अगरतला के पास एक मस्जिद में तोड़फोड़ की पुष्टि करते हुए उन्‍होंने कहा, ‘हम लगभग 150 मस्जिदों को सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि वे घटनाओं की जांच कर रहे हैं और सीसीटीवी फुटेज को भी जांचा जा रहा है।

उनाकोटी के एसपी रति रंजन देबनाथ ने कहा कि वे उत्तरी त्रिपुरा जिले में एक मूर्ति के संबंध में एक घटना की जांच कर रहे थे। उन्‍होंने बताया कि यह मूर्ति उनाकोटी में एक पहाड़ी के ऊपर एक सुनसान जगह पर स्थित थी। एसपी देबनाथ ने कहा, ‘पिछले कुछ दिनों में भारी बारिश हुई थी, यह कल्पना करना मुश्किल है कि कोई भी 45 मिनट से अधिक घने जंगलों के बीच चलकर ऐसा कुछ कर सकता है। यहां कोई सांप्रदायिक तनाव नहीं है।’