त्रिपुरा हाईकोर्ट द्वारा टीकाकरण के आंकड़ों पर सवाल उठाने के दो दिनों बाद, त्रिपुरा स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि पूर्व में जारी किए गए आंकड़े सटीक थे।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम), त्रिपुरा के मिशन निदेशक डॉ सिद्धार्थ शिव जायसवाल ने कहा कि वह पात्र, आयु समूहों के कोविड-19 टीकाकरण के आंकड़ों के साथ खड़े हैं, जो पहले मीडिया द्वारा रिपोर्ट किए गए थे।

दरअसल, हाईकोर्ट ने टीकाकरण के सरकारी आंकड़ों पर सवाल उठाते हुए सरकार से जवाब मांगा था। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट को दिया गया आंकड़ा अंकगणितीय अनुमानों पर आधारित था।

बाद में त्रिपुरा हाईकोर्ट ने कहा, हमने जनगणना रिपोर्ट, यूआईडीएआई डाटा आदि से जुड़ी लक्षित आबादी पर मंथन किया और संशोधित अनुमानित लक्ष्य पर पहुंचे। यह बहुत अधिक सटीक आंकड़ा है और भारत सरकार के लक्ष्य के साथ इसकी पुष्टि की गई है।

उन्होंने कहा कि फिलहाल हमने कुल पात्र आबादी के 78.43 प्रतिशत को पहली खुराक दी है। लेकिन जिस समय मीडिया में रिपोर्ट आई थी उस समय तक हम 70 फीसदी से कुछ ऊपर थे।