त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने राज्य के लोगों को बड़ी सौगात दी है। अगरतला में रंगामयी रिसर्च एंड ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट ऑफ एक्वाकल्चर का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि आधुनिक मछलीपालन में 8 पूर्वोत्तर राज्यों में से त्रिपुरा शीर्ष स्थान पर है। 2 साल में राज्य आत्मनिर्भर हो जाएगा। मछली उत्पादन में आत्मनिर्भर बन जाएगा। इस दौरान उन्होंने कहा कि इससे लोगों को काफी फायदा होगा। लोगों को रोजगार मिलेगा। मछलीपालन के काम में हम जल्द ही आत्मनिर्भर बन जाएंगे।

वहीं इससे पहले त्रिपुरा सरकार ने निर्णय किया था कि वो ग्रेजुएशन करने वाले छात्रों को स्मार्टफोन (Smartphone) खरीदने के लिए आर्थिक मदद उपलब्ध कराएगी। कानून मंत्री रतन लाल नाथ ने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी द्वारा 2018 के विधानसभा चुनाव से पहले किए गए वादे को पूरा करने के लिए मंगलवार को हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में 14,608 छात्रों को स्मार्टफोन खरीदने के लिए 5000 रुपये देने का निर्णय लिया गया।

नाथ ने बताया कि सरकार द्वारा संचालित उच्च शिक्षा के 38 संस्थानों के मेडिकल, पैरा-मेडिकल, इंजीनियरिंग, विज्ञान, कला, कॉमर्स, कानून, पेंटिंग-म्युजिक और नर्सिग के सभी 14,608 छात्र स्मार्टफोन खरीदने के लिए एक बार वित्तीय सहायता प्राप्त करेंगे।"उन्होंने कहा कि सरकार 'मुख्यमंत्री युवा जोगाजोग योजना' नाम से एक नई योजना लाएगी जो 2020-21 शैक्षणिक सत्र से स्मार्टफोन खरीदने के लिए वित्तीय सहायता देगी। मंत्री के मुताबिक, इस नई योजना को लागू करने के लिए हर साल सरकारी खजाने से 7।31 करोड़ रुपये खर्च होंगे।