त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लप देब ने मंगलवार को दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर असम राइफल्स के साथ ब्रू पुनर्वास और भूमि मुद्दों से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने शाह को ब्रू पुनर्वास के विकास और राज्य में सैनिक स्कूल खोलने में आ रही बाधाओं से अवगत कराया।

ये भी पढ़ेंः त्रिपुरा में अफ्रीकन स्वाइन फीवर का कहर, जारी हुआ सूअरों को मारने का आदेश


उन्होंने ट्वीट किया,  गृह मंत्री अमित शाह से मिलना सम्मान की बात है। उन्हें त्रिपुरा में ब्रू पुनर्वास के विकास से अवगत कराया। साथ ही उन्हें राज्य में सैनिक स्कूल खोलने में आ रही बाधाओं से अवगत कराया। दशकों के इंतजार के बाद त्रिपुरा में आंतरिक रूप से विस्थापित ब्रू लोगों ने वर्ष 2020 में हस्ताक्षरित चतुर्भुज ब्रू पुनर्वास समझौते के तहत निर्मित अपने स्थायी घरों में रहना शुरू कर दिया है।

ये भी पढ़ेंः Moral policing: विवाहेतर संबंध होने के संदेह में महिला को भीड़ ने पीटा, 'प्रेमी' से शादी के लिए मजबूर किया


देब ने असम राइफल्स के मुद्दे पर भी चर्चा की और त्रिपुरा के विकास के लिए शाह के निरंतर समर्थन की सराहना की क्योंकि उन्होंने उन्हें केंद्र सरकार से हर संभव मदद का आश्वासन दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में त्रिपुरा सरकार को अगरतला शहर में 121 एकड़ का मालिकाना हक असम राइफल्स को नहीं सौंपने के लिए फटकार लगाई, जो 1951 से सरकार के कब्जे में है।