त्रिपुरा के मुख्यमंत्री डॉ. माणिक साहा ने कहा कि उनकी सरकार सरकारी कॉलेजों में सभी छात्राओं को मुफ्त शिक्षा प्रदान करेगी। अगरतला में अपने आधिकारिक आवास पर सभा में शामिल हुए साहा ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा सरकार की प्रमुख चिंताओं में से एक है और महिलाओं को सशक्त बनाने की अपनी प्रतिबद्धता के तहत राज्य सरकार डिग्री कॉलेजों में छात्राओं को मुफ्त शिक्षा प्रदान करेगी। 

ये भी पढ़ेंः भाजपा शासन में संसदीय लोकतंत्र खतरे में : विपक्ष के नेता माणिक सरकार


बता दें कि लड़कियों के लिए मुफ्त शिक्षा 2018 के विधानसभा चुनावों से पहले त्रिपुरा में भाजपा के चुनाव पूर्व वादों में से एक है, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब देब प्रशासन ने कहा था कि राज्य लड़कियों के लिए स्कूली शिक्षा मुफ्त करेगा। हालांकि साहा ने अब कॉलेज से जुड़ा वादा पूरा कर दिया है। मुख्यमंत्री द्वारा की गई अन्य घोषणाओं में अगरतला नगर पालिका और आसपास के क्षेत्रों में अतिरिक्त सीसीटीवी कैमरे और स्वचालित नंबर प्लेट पहचान कैमरे लगाने का निर्णय शामिल है। 

ये भी पढ़ेंः कतर और दुबई हुए त्रिपुरा के पाइनएप्पल के कायल, लगातार बढ़ रहा निर्यात


उन्होंने कहा कि 20 करोड़ रुपये की डिजिटल निगरानी परियोजना का उद्देश्य विशेष रूप से महिलाओं के लिए उन जगहों पर सुरक्षा प्रदान करना है, जहां कम सुरक्षाकर्मी हैं। पहले चरण में 7.61 करोड़ रुपये की लागत से करीब 150 कैमरे लगाए जाने की संभावना है। महिला सशक्तिकरण के तहत साहा ने कहा कि राज्य के सभी पुलिस थानों में महिलाओं के लिए एक विशेष हेल्प डेस्क स्थापित किया जाएगा और महिलाओं को अपनी शिकायत दर्ज कराने और त्वरित प्रतिक्रिया प्राप्त करने के लिए हेल्पलाइन नंबर 1091 चालू किया जाएगा।