राष्ट्रीय जाट संरक्षण समिति की बैठक में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के बयान की निंदा की गई है। इस बैठक का आयोजन गांव बैरमपुर व आरखपुरा में राष्ट्रीय जाट संरक्षण समिति की ओर से किया गया। इसमें त्रिपुरा के मुख्यमंत्री द्वारा जाटों व सिखों के संदर्भ में कहे गए अनुचित शब्दों की निदा की गई।
गांव बैरमपुर में पूर्व प्रधान विजेंद्र सिंह व ग्राम आरखपुर में नीटू चौधरी के घर पर बैठकों का आयोजन किया गया। जिसमें वक्ताओं ने त्रिपुरा के मुख्यमंत्राी विप्लव देव द्वारा जाटों और सिखों को कहे गए अनुचित शब्दों की निदा की। राष्ट्रीय जाट सरंक्षण समिति के राष्ट्रीय सचिव तेजवीर सिंह अलुना ने विप्लव देव के बयानों को अपरिपक्व और विवेकहीन बताया।
उन्होंने कहा संवैधानिक पद पर बैठे हुए लोगों को ऐसे बयान कतई शोभा नही देते, हम सब ऐसे बयानों की कड़ी निदा करते हैं। बैठकों में ओंकार सिंह मांगट, नीटू चैध्री, पीतम सिंह, मांगट, ओमप्रकाश सिंह, यादराम सिंह, धर्मेंद्र सिंह, अंकुर, रवि सिंह आदि मौजूद रहे।