त्रिपुरा में एक पुलिसकर्मी को चाकू मारने की घटना को छोड़कर, गुरुवार को पांच राज्यों, दिल्ली में लोकसभा की तीन और विधानसभा की सात सीटों के लिए उपचुनाव में मतदान कुल मिलाकर शांतिपूर्ण रहा। इस दौरान त्रिपुरा में सबसे अधिक 76.62 प्रतिशत मतदान हुआ। पंजाब, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में मतदान 45 प्रतिशत से कम रहा जबकि झारखंड में यह 56 और आंध्र प्रदेश में 67 प्रतिशत रहा। हालांकि अंतिम आंकड़ों में बदलाव होने की उम्मीद है।

ये भी पढ़ेंः हिरासत में मौत: उच्च न्यायालय ने त्रिपुरा सरकार से 10 लाख रुपये मुआवजा देने को कहा


मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) किरण गिट्टे ने कहा कि अगरतला निर्वाचन क्षेत्र के कुंजाबन इलाके में ऑफ-ड्यूटी पुलिसकर्मी समीर साहा को चाकू मारने सहित कुछ छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान प्रक्रिया काफी हद तक शांतिपूर्ण रही। उन्होंने कहा कि साहा का फिलहाल अस्पताल में इलाज चल रहा है।

ये भी पढ़ेंः अभिषेक बनर्जी का बड़ा दावा, तृणमूल कांग्रेस ही ले सकती है भाजपा से मोर्चा


विपक्षी कांग्रेस ने बड़े पैमाने पर धांधली किए जाने का आरोप लगाते हुए अगरतला निर्वाचन क्षेत्र के चार बूथ पर पुनर्मतदान की मांग की, जबकि तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया कि उपचुनाव के नाम पर लोकतंत्र की हत्या की गई।