गौहत्या (cattle slaughter in Tripura) को लेकर सोमवार को पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा के मोतीनगर में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) (BSF) और ग्रामीणों के बीच झड़प हो गई। इस झड़प में एक जवान सहित पांच लोग घायल हो गए, जिसके बाद सिपाहीजाला जिले (Tension in Sipahijala district) के सीमावर्ती गांवों में तनाव फैल गया। पुलिस ने कहा कि यह घटना अगरतला से 50 किलोमीटर दूर माटीनगर के तुक्कर चौमुहानी गांव में हुई और उन्होंने कहा कि उनके पास कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि बीएसएफ की 150 बटालियन के सुशील कुमार घायल हो गए और उन्हें स्थानीय अस्पताल ले जाया गया। बाद में उन्हें अगरतला के गोविंद बल्लभ पंत अस्पताल (Govind Ballabh Pant Hospital) में रेफर कर दिया गया। पुलिस ने कहा कि घायल ग्रामीणों की पहचान सूफीउल्ला (30), इरशाद मिया (60), मोतीकुल इस्लाम (50) और अनवारा बेगम (60) के रूप में हुई है, जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद स्थानीय अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। पुलिस ने कहा कि गाय की कथित हत्या (cattle slaughter in Tripura) को लेकर बीएसएफ के कुछ कर्मियों और सूफीउल्ला के परिवार के बीच हुए विवाद हो गया था, जिसने हिंसक झड़प का रूप ले लिया। 

सूत्रों के अनुसार सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) (BSF) को फकीरादुला के एक स्थानीय बाजार में गौहत्या (cattle slaughter in Tripura) की सूचना मिली थी। इसके बाद जवानों ने बाजार पर छापा मारा और उन्होंने गायों के खुले में वध करने पर आपत्ति जताई, जिसके कारण दो पक्षों के बीच तीखी नोंकझोंक हो गई। इस दौरान कथित तौर पर महिलाओं समेत हिंसक ग्रामीणों ने बीएसएफ पर हमला कर दिया, जिसके बाद बीएसएफ जवानों ने स्थानीय लोगों पर लाठीचार्ज किया। इसके बाद बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने जवानों का पीछा किया, जिसके बाद हालात बिगड़ गए। झड़प के दौरान एक महिला सहित चार ग्रामीण घायल हो गए, जबकि इस घटना में बीएसएफ का एक जवान के भी घायल हुआ है।