अगरतला। त्रिपुरा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संभालते ही राजीव भट्टाचार्य ने शुक्रवार को पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से 2023 के विधानसभा चुनावों में शानदार जीत हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले कड़ी मेहनत के बदौलत ही हमें जीत हासिल हो सकती है। राज्य में अगले साल मार्च में 60 सीटों पर विधानसभा चुनाव होने है।

ये भी पढ़ेंः आखिरकार खत्म हुआ भारतीय फुटबॉल इतिहास का सबसे काला समय, फीफा ने लिया ऐसा बड़ा फैसला

पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा, भाजपा आला कमान ने मुझे प्रदेश अध्यक्ष बनाकर बहुत बड़ी जिम्मेदारी दी है। मैं संगठन की मजबूती के लिए लगातार काम करता रहूंगा। उन्होंने कहा कि भाजपा ने उनके ऊपर विश्वास जताया है और इसके बदले हमें कड़ी मेहनत करने की जरुरत है। भट्टाचार्य ने 1991 में भाजपा की सदस्या ली थी। वह संगठन में विभिन्न पदों पर पूरी क्षमताओं के साथ काम कर चुके हैं। इससे पहले वे कोषाध्यक्ष और उपाध्यक्ष का पद संभाल चुके हैं। उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लव देव का काफी करीबी माना जाता है।

उन्होंने कहा, 'मुझे त्रिपुरा में पार्टी का नेतृत्व देने और मुझ पर विश्वास जताने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का आभारी हूं। मैं 2023 के चुनावों में अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए पार्टी नेताओं के मार्गदर्शन में काम करूंगा। आगामी चुनाव में हम अधिक सीटों के साथ जीत हासिल करेंगे।' इससे पहले 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 60 सीटों में से 36 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

ये भी पढ़ेंः दिनेश कार्तिक की जगह इस खिलाड़ी को टीम इंडिया में देखना चाहते हैं सबा करीम, जानिए क्यों


भट्टाचार्य ने कहा, 'हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा 28 अगस्त से राज्य के अपने दो दिवसीय दौरे की शुरुआत करेंगे। उनके प्रवास का मतलब चुनाव प्रचार की शुरुआत है। मैं आप सभी से उनकी रैली को सफल बनाने का आग्रह करता हूं।' आधिकारिक तौर पर प्रदेश अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभालने के बाद भट्टाचार्य ने उदयपुर के त्रिपुरेश्वरी मंदिर में पूजा-अर्चना की। इससे पहले मुख्यमंत्री माणिक साहा को 15 जनवरी, 2020 को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था। साहा ने 14 मई को बिप्लव देव की जगह मुख्यमंत्री का पद संभाला।