त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने कहा है कि जनवरी और फरवरी में दर्ज 84 नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस एक्ट (एनडीपीएस) मामलों के तहत 99 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य में पिछले वाम मोर्चा शासन की तुलना में प्रतिबंधित वस्तुओं की जब्ती अधिक है।

ये भी पढ़ेंः इस राज्य के बच्चों की बदल जाएगी किस्मत, सभी स्कूलों में खुलेंगे बाल अधिकार क्लब


देब ने ट्वीट करके कहा कि तस्वीर तुलनात्मक रूप से स्पष्ट है। पुलिस की पहल के साथ प्रतिबंधित वस्तुओं की बरामदगी की संख्या पहले की तुलना में बहुत अधिक है। बता दें कि त्रिपुरा पुलिस ने 10,176 किलोग्राम गांजा, 1,550 ग्राम हेरोइन और 33,312 कफ सिरप की बोतलों सहित मादक पदार्थ जब्त किया है।

ये भी पढ़ेंः त्रिपुरा में आदिवासी वोट बैंक पर सभी की नजर, अब शाही वंशज प्रद्योत किशोर देबबर्मन ने उठाया ऐसा कदम


पिछले साल एनडीपीएस के 352 मामलों में 501 लोगों को गिरफ्तार किया गया था, जबकि 2020 में 291 मामलों में 406 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। 2015 में एनडीपीएस मामलों में 67 और अगले साल 62 और 2017 में 65 लोगों को गिरफ्तार किया गया था।  वहीं 2015 में 72, 2016 में 56 और 2017 में 83 मामले दर्ज किए गए।