त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब पूर्वोत्तर भारत में भाजपा के एक कद्दावर नेता माने जाते हैं। लेकिन उससें पहले उनके पिता भी जनसंघ और भाजपा के कद्दावर नेता रह चुके हैं। CM ने आज उनके पिता स्वर्गीय हिरुधन देव की स्मृति में बनमालीपुर मंडल द्वारा आयोजित क्रिकेट टूर्नामेंट के उद्घाटन समारोह में शामिल होकर ये बात कही।

यह भी पढ़ें : शाकाहारी और मांसाहारी दोनों की खास पसंद है गुंडरूक, स्वाद ऐसा है कि चखते ही दीवाने हो जाते हैं लोग

7 लोग, लोग खड़े हैं और बाहर की फ़ोटो हो सकती है


सीएम ने कहा कि 'मेरे पिताजी 1967 से पहले जनसंघ और फिर भाजपा से जुड़े रहे। तब कई लोग कहते थे कि बीजेपी कभी सत्ता में नहीं आएगी तो इस पार्टी को करने से क्या फायदा? लेकिन मेरे पिताजी ने पार्टी के लिए काम किया जिसका नतीजा आज मैं प्रदेश का मुख्यमंत्री हूँ।'

9 लोग, लोग खड़े हैं, लोग बैठ रहे हैं और रोड की फ़ोटो हो सकती है

यह भी पढ़ें : कंफ्यूज कर देती है सिक्किम की सेल रोटी, खाने वाले नहीं समझ पाते रोटी या मिठाई, स्वाद है लाजवाब


मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि 'मेरा सभी लोगों से अनुरोध है कि निजी स्वार्थों को छोड़कर समग्र हितों को महत्व देते हुए आगे आएं। आज अपने पिता स्वर्गीय हिरुधन देव की स्मृति में बनमालीपुर मंडल द्वारा आयोजित क्रिकेट टूर्नामेंट के उद्घाटन समारोह में शामिल हुआ।'

4 लोग, लोग बैठ रहे हैं, लोग खड़े हैं और बाहर की फ़ोटो हो सकती है


बिप्लब कुमार देब का जन्म 25 नवम्बर 1969 को हुआ था। वो 7 जनवरी 2016 से त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रे हैं। वे 2018 में हुए त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में भाजपा के जीत के सूत्रधार बने। इसके बाद 9 मार्च 2018 को वो त्रिपुरा के 10वें मुख्यमन्त्री बने हैं।