पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) पेट्रोल और डीजल की कीमतों (Petrol-Diesel Price Hike) को लेकर लगातार केंद्र सरकार (central government) को घेरती रही है। पश्चिम बंगाल (West Bengal) के बाद अब टीएमसी (TMC) ने पेट्रोल और डीजल की कीमत की वृद्धि के खिलाफ अगरतला में प्रदर्शन किया। टीएमसी के नेता कुणाल घोष (Kunal Ghosh) ने अगरतला पेट्रोल पंप के सामने प्रदर्शन किया और मोदी सरकार (Modi Government) और अगलतला की बिप्लव देव सरकार (Biplab deb) के खिलाफ नारेबाजी की। दूसरी ओर टीएमसी की राज्यसभा की सांसद सुष्मिता देव (Sushmita Dev) ने हिंसा पर त्रिपुरा सरकार (Tripura government) को आड़े हाथ लिया।

गौरतलब है कि पेट्रोल और डीजल की कीमत लगातार बढ़ रही है। टीएमसी (TMC) लगातार इसके खिलाफ केंद्र सरकार (central government) को घेर रही है। अब इस मामले को लेकर त्रिपुरा सरकार (Tripura government) को भी टीएमसी (TMC) ने घेरना शुरू कर दिया है। तृणमूल कांग्रेस के राज्य महासचिव कुणाल घोष (Kunal ghos) ने कहा, ‘‘देश गत कुछ महीनों से ईंधन की कीमतों में हुई अभूतपूर्व वृद्धि के बोझ से दबा हुआ है, लेकिन लगता है कि बीजेपी सरकार लोगों की परेशानी को लेकर बेपरवाह है।’’ इस विरोध प्रदर्शन में टीएमसी के स्टैंडिंग कमेटी के संयोजक सुबल भौमिक भी उपस्थित थे। बता दें कि कच्चे तेल की कीमतों में तेजी जारी है लिहाजा पेट्रोल-डीजल के रेट भी लगातार बढ़ रहे हैं।

दूसरी ओर, टीएमसी की राज्यसभा की सासंद सुष्मिता देव (sushmita dev) को राज्यसभा के चेयरमैन वेंकैया नायडू (Venkaiah Naidu) ने शपथ दिलाई। उन्होंने त्रिपुरा में हिंसा पर कहा, ” मुझे उम्मीद है कि त्रिपुरा में पुलिस और प्रशासन कार्रवाई करेगा। अगर वे हम पर बंगाल में हिंसा का आरोप लगाते हैं, तो बीजेपी को त्रिपुरा में कार्रवाई करनी चाहिए। हमने टीएमसी के पोस्टरों को तोड़ते हुए देखा है। हम इसकी निंदा करते हैं। मेघालय के राज्यपाल, जो गोवा के पूर्व राज्यपाल भी हैं, ने गोवा पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। हम इस चुनाव में उस संदेश को जनता तक ले जा रहे हैं।” बता दें कि टीएमसी गोवा और त्रिपुरा में लगातार बीजेपी पर हमला बोल रही है।