तृणमूल कांग्रेस के कई नेताओं और समर्थकों को त्रिपुरा के उनाकोटी जिले में कथित तौर पर कोविड प्रतिबंधों का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। टीएमसी की त्रिपुरा इकाई के अध्यक्ष आशीष लाल सिन्हा गिरफ्तार पार्टी कार्यकर्ताओं में से थे। टीएमसी के नेता तत्कालीन कांग्रेस नेता ममता बनर्जी के नेतृत्व में एक रैली के दौरान 1993 में इसी दिन कोलकाता में पुलिस फायरिंग में कथित रूप से मारे गए पार्टी कार्यकर्ताओं को श्रद्धांजलि देने के लिए गौरनगर में एकत्र हुए थे।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि 21 लोगों को गिरफ्तार किया गया क्योंकि उन्होंने COVID प्रतिबंधों का उल्लंघन किया और एक गैरकानूनी सभा की। त्रिपुरा में तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को गिरफ्तार किया गया। अधिकारी ने कहा कि “उन्हें एक अस्थायी जेल में डाल दिया गया था। गिरफ्तारी एक कार्यकारी मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में की गई थी ”।

टीएमसी के राज्य प्रमुख सिन्हा ने दावा किया कि उनके और टीएमसी के उनाकोटी जिला अध्यक्ष अंजन चक्रवर्ती सहित पार्टी के 82 कार्यकर्ताओं और नेताओं को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि "जब मैं गौरनगर में शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए पार्टी का झंडा फहरा रहा था, तो पुलिस ने 82 पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया।"