टिपरा मोथा के प्रमुख प्रद्योत किशोर देबबर्मन ने शुक्रवार को अपनी पार्टी के समर्थकों के एक वर्ग को चेतावनी दी और स्पष्ट संदेश दिया कि जो लोग अपने निजी एजेंडे के लिए पार्टी के मंच का इस्तेमाल करने की कोशिश कर रहे है उनकी हमारी पार्टी में कोई जगह नहीं है। 

अगरतला से करीब 20 किलोमीटर दूर बरकथल में एक जनसभा को संबोधित करते हुए देबबर्मन ने कहा, 'पैसे और शोहरत के लिए खुद को बेचना बंद करो। इन उद्देश्यों के लिए टीआईपीआरए मोथा नहीं बनाया गया है। स्वदेशी समाज के उत्थान के लिए इस पार्टी को बड़ी भूमिका निभानी है।

सत्तारूढ़ भाजपा पर तीखा हमला करते हुए, देबबर्मन ने कहा, “अगर यूपी, पंजाब और अन्य राज्यों में चुनाव हो सकते हैं तो हमारी ग्राम समितियों में क्या गलत है। उनके मन में एक धारणा है कि अगर तिप्रसा को विकास के लिए पैसा नहीं मिलेगा तभी वे भाजपा को वोट देंगे।

तिप्रसा के पास पैसा नहीं हो सकता है, लेकिन हम भिखारी नहीं हैं। मैं आप सभी से आखिरी लड़ाई के लिए एकजुट होने का आग्रह करना चाहता हूं। अगले 10 से 12 महीनों में हम त्रिपुरा में एक नया इतिहास रचने जा रहे हैं।

अपनी ही पार्टी के नेताओं के एक वर्ग की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा, “अवसरवादियों के लिए कोई जगह नहीं है। ग्रेटर टिपरालैंड के एकमात्र उद्देश्य के लिए बनाई गई टीआईपीआरए मोथा में कुछ मुट्ठी भर लोगों के व्यक्तिगत हित के लिए समझौता नहीं किया जा सकता है। उनके लिए मैं कहना चाहता हूं, पद और पैसे के लिए अपने ही लोगों के साथ विश्वासघात न करें।"

उन्होंने स्वदेशी समाज के प्रत्येक समुदाय से ग्रेटर टिपरालैंड की लड़ाई के लिए एकजुट होने का आह्वान किया।

 देबबर्मन ने कहा, किसी की चाल में गिरकर विभाजित न हों। देबबर्मा, जमातिया, मोलसोम सब एक हैं। हमें अपनी एकता दिखाने की जरूरत है और इस तरह ग्रेटर टिपरालैंड के हमारे लक्ष्य को हासिल किया जाएगा। 

रैली में हजारों की संख्या में तिपरा मोथा समर्थक जुटे। पार्टी के सूत्रों ने बताया कि देबबर्मन टीटीएएडीसी क्षेत्रों में कई रैलियों को संबोधित करेंगे और ग्राम समिति चुनाव की मांग पर जोर देंगे।