सुरेश रैना ने सैयद मुश्ताक अली ट्रोफी में उत्तर प्रदेश की त्रिपुरा के खिलाफ जीत में अहम भूमिका निभाई। टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर ने 0/23 का एक टाइट स्पैल फेंका, 36 नाबाद रनों की पारी खेली और एक शानदार रन-आउट किया।

रैना ने बीते साल 15 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था लेकिन वह अब भी घरेलू क्रिकेट में उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व करते हैं। रैना न सिर्फ अपनी बल्लेबाजी बल्कि साथ ही शानदार फील्डिंग के लिए भी पहचाने जाते रहे हैं।

रैना ने जो रन-आउट किया उसकी काफी चर्चा हो रही है। इसमें रैना ने फुर्ती के साथ-साथ मानसिक तत्परता भी दिखाई। उन्होंने गेंद को जल्दी लपका और फटाफट थ्रो किया।

पहले बल्लेबाजी करते हुए त्रिपुरा ने अच्छी शुरुआत की। 15.3 ओवर में उसका स्कोर 93/4 का था। उसके कप्तान मणिशंकर मुरासिंह ने मिलिंद कुमार के साथ मिलकर एक साझेदारी बनाई। जब त्रिपुरा की पारी रफ्तार पकड़ने वाली थी रैना ने फील्डिंग में गजब का प्रदर्शन किया।

रैना की गेंद पर जब बल्लेबाज ने शॉट खेला तो नॉन-स्ट्राइक ने रन लेने की कोशिश की। लेकिन रैना ने अपनी ही गेंद को पकड़ना और टांगों के बीच में नॉन-स्ट्राइक छोर पर थ्रो कर दिया।