त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिपल्ब कुमार देब (Tripura CM Biplab Kumar Deb) का नाम लिए बिना राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक एवं पूर्व मंत्री सुदीप रॉय बर्मन (Sudip Roy Burman) ने राज्य में हो रही हिंसक वारदातों को लेकर उन पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा, मानसिक रूप से दिवालिया एक नेता जिसे अचानक बड़ी जिम्मेदारी मिल गयी, भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को बदनाम कर रहा है तथा लोकतंत्र का मजाक बना रहा है। 

बर्मन (Sudip Roy Burman) ने कहा कि मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के असामाजिक तत्व अब भाजपा की शरण में आ गये हैं और राज्य में उस जनता के खिलाफ हमला कर रहे हैं, जिसने कम्युनिस्ट के 25 वर्ष के शासन का अंत किया था। इन नेताओं को संसाधन, समर्थन और प्रतिभा जैसी सभी तरह की मदद मिली थी। उन्होंने टिप्पणी की, जिस व्यक्ति का कम्युनिस्ट शासन के खिलाफ संघर्ष का न्यूनतम इतिहास भी नहीं है, वह अपनी अपमानजनक टिप्पणियों से भाजपा की छवि खराब कर रहा है। इन टिप्पणियों को जनता बिल्कुल पसंद नहीं कर रही है और अब उनके कुछ ही दिन बचे हैं। 

बर्मन ने भाजपा के एक अन्य विधायक आशीष कुमार साहा (Ashish Kumar Shaha) के साथ मीडिया से कहा कि आगामी चुनावों के लिए उम्मीदवारों की अंतिम सूची तय करने में उनसे बात तक नहीं की गयी। यहां तक कि उन्हें चुनाव प्रचार के लिए भी नहीं बुलाया गया। अचानक राज्य पर थोप दिया गया व्यक्ति और उसके साथी भाजपा को बर्बाद करने के लिए जोर-शोर से जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा, मैने भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा (JP Nadda), पार्टी राष्ट्रीय महासचिव बी एल संतोष, नेडा अध्यक्ष और असम के मुख्यमंत्री हेमंता बिस्व सरमा (Hemanta Biswa Sarma) को स्थिति समझाई है, लेकिन राजनीति में मौजूद सभी नौसिखियाओं को कोई अंदाजा नहीं है कि त्रिपुरा में क्या चल रहा है, इस सबसे मेरी पार्टी का नाम खराब हो रहा है। क्या उनमें थोड़ी भी समझ है, उनके कारनामे पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में पार्टी को शर्मिंदा करेंगे।