त्रिपुरा के आपातकालीन संचालन केंद्र की एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान लगातार बारिश के कारण क्षतिग्रस्त 190 इमारतों में एक स्कूल छात्रावास भी शामिल है। हालांकि किसी के घायल होने की सूचना नहीं है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में राज्य के आठ जिलों में से अधिकांश में बारिश की संभावना जताई है।

ये भी पढ़ेंः त्रिपुरा सरकार ने खोला खजाना, पत्रकारों को देगी स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ, इतने लाख रुपए तक होंगे कवर


रिपोर्ट में कहा गया है कि सिपाहीजला, गोमती, धलाई और दक्षिण जिलों में 11 घर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए, 55 घर बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए और 124 घर आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गए। गोमती जिला प्रशासन ने बारिश में बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुए चार परिवारों को पांच-पांच हजार रुपये मुहैया कराए हैं। इसी तरह, दक्षिण जिला प्रशासन ने  प्रत्येक परिवार जिनके घर पूरी तरह से और गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो गए थे, उन्हें 5,000 रुपए दिए हैं। 

ये भी पढ़ेंः त्रिपुरा में अफ्रीकी स्वाइन फ्लू की चेतावनी जारी, अपनाए गए एहतियातन उपाय


स्टेट इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर के एक अधिकारी ने कहा कि वे अन्य जिलों में बारिश के प्रभाव के बारे में जानकारी लेने की प्रक्रिया में हैं। पिछले अगस्त में लगातार बारिश के कारण हुए भूस्खलन के कारण एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई और दो नाबालिग घायल हो गए, जिसने 20 घरों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया।