कोरोना काल में हर काम रुक गया था लेकिन फिर समय पटरी पर चलने लगा है। सरकार ने सभी परीक्षाओं को मंजुरी दे दी है। अभी तक कई तरह की नौकरियों की परीक्षा हो चुकी है। इसी के साथ त्रिपुरा सरकार ने युवाओं को नौकरी देने की पहल की है। जिसमें त्रिपुरा के शिक्षा मंत्री रतन लाल नाथ ने घोषणा की है कि राज्य सरकार विभिन्न श्रेणियों में 3970 शिक्षकों की भर्ती करेगी। जिससे युवाओं को रोजगार मिलेगा।

शिक्षा मंत्री रतन लाल ने बताया कि 3970 शिक्षकों में से 65, स्नातकोत्तर शिक्षक, कक्षा IX और X के लिए 175 स्नातक शिक्षक, छठी से आठवीं और 1675 की कक्षाओं के लिए 2055 स्नातक शिक्षक कक्षा I से V के लिए स्नातक शिक्षक पदों के लिए भर्ती की जाएगी। इसके अलावा, 1675 उम्मीदवार शिक्षक पात्रता परीक्षा (TIT) में उत्तीर्ण हुए हैं और वे राज्य के विभिन्न स्कूलों में भर्ती का इंतजार कर रहे हैं। शिक्षा मंत्री रतन लाल ने बताया की राज्य सरकार अगले साल जनवरी के पहले सप्ताह के भीतर 1675 शिक्षकों की भर्ती करेगी।

उन्होंने आगे कहा कि अगले साल जनवरी तक इन सभी को भर्ती करने के लिए एक योजना पर विचार किया जा रहा है। टीईटी आयोजित करने के लिए शिक्षक भर्ती बोर्ड, त्रिपुरा (TRBT) को एक प्रस्ताव भेजा जाएगा। दूसरी ओर, मार्च 2017 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा त्रिपुरा उच्च न्यायालय के फैसले को गलत ठहराते हुए 10,323 शिक्षकों को उनकी सेवाओं से बर्खास्त कर दिया गया है। इन शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया को दोषपूर्ण करार दिया गया है। इससे राज्य में शिक्षकों की कमी हो गई है।