त्रिपुरा शाही वंशज और TIPRA (स्वदेशी पीपुल्स रीजनल अलायंस) प्रद्योत देबबर्मन ने त्रिपुरा जनजातीय क्षेत्र स्वायत्त जिला परिषद (TTAADC) चुनावों के लिए कम से कम 60-70 बूथों पर फिर से मतदान की मांग की है। अगरतला के उज्जयन्ता पैलेस में मीडिया को जानकारी देते हुए, TIPRA के अध्यक्ष और त्रिपुरा के शाही नेता प्रद्योत देबबर्मन ने विश्वास जताया कि उनकी पार्टी TTAADC चुनावों में एक आरामदायक बहुमत हासिल करेगी। TTAADC चुनाव के लिए 6 अप्रैल 2021 को कुल 28 निर्वाचन क्षेत्र में मतदान हुआ था।

इससे पहले, त्रिपुरा की मुख्य विपक्षी पार्टी CPI-M ने भी 11 निर्वाचन क्षेत्रों में कम से कम 65 बूथों में फिर से मतदान की मांग की है। भाजपा की सहयोगी इंडिजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (IPFT) ने भी केवल एक निर्वाचन क्षेत्र में कम से कम 23 बूथों पर फिर से मतदान की मांग की है। जानकारी के लिए बता दें कि TTAADC चुनाव 6 अप्रैल 2021 को हुए थे। इस दिन देश के  5 राज्यों में विधानसभा चुनाव की वोटिंग हो रही थी।

प्रद्योत देबबर्मन ने कहा कि “कुछ दुर्भाग्यपूर्ण राज्य के कुछ निर्वाचन क्षेत्रों गोलाघाटी, पीकूराजाला और तकारजला में घटनाएं हुईं है। हम अधिक जानकारी एकत्र कर रहे हैं और हम कम से कम 60-70 बूथों में फिर से मतदान की मांग करेंगे "। देबबर्मन ने बताया कि "मैंने पहले ही त्रिपुरा राज्य निर्वाचन आयुक्त को सूचित कर दिया है और मेरी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल उन बूथों की सूची जमा करने के लिए उनसे मिलेगा, जहां हम दोबारा मतदान की मांग करेंगे "।