पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी 16 फरवरी को होने वाले त्रिपुरा विधानसभा चुनाव के लिए सात फरवरी को चुनावी रैलियों को संबोधित करने आ सकती हैं। यह जानकारी तृणमूल के नेताओं ने रविवार को दी। पार्टी के नेताओं ने बताया कि तृणमूल अपनी जीत की संभावना को देखते हुए बड़ी संख्या में सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी। पार्टी यह सुनिश्चित करेगी कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विरोधी वोट विभाजित न हों।

ये भी पढ़ेंः त्रिपुराः कुल्हाड़ी से वार कर पत्नी को उतारा था मौत के घाट, अब कोर्ट ने सुनाई ऐसी बड़ी सजा


उन्होंने कहा, हम स्थिति और भाजपा को हराने के लिए विपक्षी दलों के कदम पर नजर रख रहे हैं और इस बार त्रिपुरा के लिए सबसे उपयुक्त चुनावी रणनीति अपनाई जाएगी। उन्होंने बताया कि बनर्जी के छह फरवरी को अपराह्न में अगरतला आने की संभावना है और रात में यहीं रूकेंगी। वह अगली सुबह यानी सात फरवरी उदयपुर में माता त्रिपुरेश्वरी मंदिर जाएंगी और एक चुनावी रैली को संबोधित करने तथा पार्टी के उम्मीदवारों के प्रचार के लिए एक रोड शो कर सकती हैं। 

ये भी पढ़ेंः फर्जी एनबीएफसी की सम्पत्तियां बेचकर जमाकर्ताओं को पैसा लौटाया सरकार: त्रिपुरा हाईकोर्ट


शीर्ष नेताओं के अलावा तृणमूल के महासचिव अभिषेक बनर्जी राज्य में रैलियों को संबोधित करेंगे। पार्टी त्रिपुरा के प्रभारी राजीव बनर्जी ने बताया कि  बनर्जी ने तीन दिन पहले कोलकाता में पार्टी की चुनावी तैयारियों की समीक्षा की थी और इस पर विस्तृत चर्चा हुई थी। त्रिपुरा के लिए पार्टी के रुख और रणनीति और बताया। उन्होंने कहा, तृणमूल भाजपा के कुशासन को समाप्त करने और त्रिपुरा में जन-समर्थक, लोकतांत्रिक और विकासोन्मुखी सरकार स्थापित करने के लिए चुनाव लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है।