अखिल भारतीय किसान सभा की त्रिपुरा राज्य समिति ने केंद्र सरकार के कृषि कानून के विरोध में देशव्यापी आंदोलन कार्यक्रम के तहत राज्य में भी विभिन्न आंदोलन कार्यक्रम तय किए हैं। यह आंदोलन 01 जनवरी से शुरू हुआ। 

कृषक सभा के राज्य नेता और सीपीआईएम पश्चिम जिला समिति के सचिव पवित्र कर ने आंदोलन कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 01 जनवरी से विभिन्न कार्यक्रम तय किए गए हैं। क्योंकि, पूरे देश में किसान केंद्रीय कृषि कानून के विरोध में आंदोलन में शामिल हो गए हैं। इसलिए, 01 जनवरी को राज्यव्यापी आंदोलन के हिस्से के रूप में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया जाएगा। उनके अनुसार अगरतला सहित त्रिपुरा में 50 स्थानों पर शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 04 जनवरी को अगरतला के ओरिएंट चौमुहानी में तीन घंटे का सार्वजनिक सीट-इन आयोजित किया जाएगा। इसके इलावा उसी दिन राज्य के अन्य हिस्सों में भी एक सार्वजनिक सीट-इन कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया है।

उन्होंने बताया कि राज्य के कुछ हिस्सों में 06 जनवरी को सार्वजनिक सीट-इन कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। पवित्र कर ने कहा कि 23 जनवरी से 26 जनवरी तक विभिन्न आंदोलनों के गठन के लिए एक प्रारंभिक निर्णय लिया गया है। उनके अनुसार अगरतला में राजभवन के सामने एक विरोध आंदोलन किया जाएगा। अखिल भारतीय कृषक सभा की त्रिपुरा राज्य समिति के नेताओं ने स्पष्ट किया है कि अगर केंद्र सरकार कृषि कानून को वापस लेने के लिए आवश्यक कदम नहीं उठाती है तो वे एक बड़े आंदोलन में शामिल होने के लिए तैयार हैं।