रेल मंत्रालय ने कटहल, अनानास एवं नींबू जैसे ग्रीष्मकालीन फलों तथा अन्य कृषि बागवानी फसल के देश के मध्य भागों में परिवहन के लिए अगरतला से हावड़ा और दिल्ली के लिए किसान रेल चलाने के संबंध में त्रिपुरा सरकार के आग्रह पर सहमति जतायी है। 

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक रेल मंत्रालय ने उन किसानों की मदद के लिए राज्य सरकार के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है , जिन्होंने इस साल भी बड़े पैमाने पर गर्मियों के फलों का उत्पादन किया है तथा उन्हें पिछले सालों की तरह विदेशों समेत देश के महानगरों में इनके निर्यात की उम्मीद है। 

हालांकि कोविड-19 महामारी के कारण दूसरे साल भी बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। हाल के वर्षों में त्रिपुरा अनानास और नींबू के सबसे बड़े उत्पादक के रूप में उभरा है। यहां उत्पादित इन फलों का बड़ी मात्रा में कोलकाता , दिल्ली और मुंबई के साथ ही ब्रिटेन तथा पश्चिम एशियाई देशों में निर्यात किया जाता है।