अगरतला : त्रिपुरा में सत्तारूढ़ भाजपा के भीतर चल रही नाराजगी की खबरों के बीच आईपीएफटी प्रमुख एनसी देबबर्मा ने घोषणा की है कि उनकी पार्टी त्रिपुरा के नए मुख्यमंत्री माणिक साहा को पूरा सहयोग देगी। 

यह भी पढ़े : Rashifal: कल लगेगा साल का पहला चंद्रग्रहण,  इन राशि वालों की चमकेगी किस्मत , भगवान शंकर की करें पूजा 


एनसी देबबर्मा जिन्होंने हाल ही में त्रिपुरा में भाजपा-आईपीएफटी सरकार में कनिष्ठ सहयोगी, आईपीएफटी की बागडोर संभालने के लिए मेवर कुमार जमातिया को हटा दिया था। देबबर्माने कहा कि उनकी पार्टी गठबंधन के सिद्धांतों के अनुसार कार्य करेगी।

यह भी पढ़े : Chandra grahan 2022: बुद्ध पूर्णिमा के दिन लगेगा साल का पहला चंद्र ग्रहण, इन तीन राशियों के खुलेंगे भाग्य


 आईपीएफटी प्रमुख एनसी देबबर्मा ने कहा, हम नए मुख्यमंत्री को अपनी हार्दिक बधाई देते हैं। नेतृत्व में बदलाव भाजपा का आंतरिक मामला है। लेकिन चूंकि हम गठबंधन में हैं इसलिए हम शर्तों का पालन करते हैं और राज्य को एक नया आकार देने में नए सीएम के साथ सहयोग करेंगे। 

यह भी पढ़े :: Horoscope 15 May : आज इन राशि वालों को चोट लग सकती है , कर्क समेत इन राशियों के जातक सूर्यदेव को जल अर्पित करें


बिप्लब देब कैबिनेट में त्रिपुरा के राजस्व मंत्री के अगले कैबिनेट में भी अपना पद बरकरार रखने की संभावना है। देबबर्मा ने कथित तौर पर पार्टी के अनुशासन का उल्लंघन करने के लिए मेवर कुमार जमातिया की भी आलोचना की।

उन्होंने कहा, 'पार्टी तोड़ने की कोशिश करने वालों के खिलाफ हम कड़ी दंडात्मक कार्रवाई करेंगे। आईपीएफटी अध्यक्ष के पद से संबंधित गलतफहमी को विस्तारित राज्य सम्मेलन के दौरान स्पष्ट किया गया जहां केंद्रीय समिति के सदस्यों ने मेरे पक्ष में वोट डाला और मुझे पार्टी के अध्यक्ष के रूप में फिर से चुना गया। 

उन्होंने कहा: “अब, जमातिया ने एक बार फिर एक राज्य सम्मेलन बुलाया है, जो पार्टी के संविधान के खिलाफ है। पार्टी के अधिकांश विधायक मेरे साथ हैं।  पार्टी के नेताओं के बड़े हिस्से ने मुझे अपने नेता के रूप में समर्थन दिया है। इसलिए पार्टी के वर्तमान नेतृत्व की स्थिति के बारे में तनिक भी संदेह नहीं होना चाहिए।