केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को त्रिपुरा में 2,752 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली नौ राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखी। एक आधिकारिक बयान में इसकी जानकारी दी गयी। गडकरी ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गों (एनएच) के उन्नयन और विकास से सभी जिलों व प्रमुख शहरों के लिये संपर्क (कनेक्टिविटी) में सुधार होगा। 

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘गडकरी ने आज त्रिपुरा में लगभग 262 किलोमीटर की कुल 2,752 करोड़ रुपये की लागत वाली नौ राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखी।’ इस अवसर पर गडकरी ने कहा कि त्रिपुरा में पिछले छह वर्षों में लगभग 300 किमी राजमार्ग जोड़े गए हैं, जिससे राज्य में राजमार्गों की मौजूदा लंबाई 850 किमी से अधिक हो गयी है। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में 8,000 करोड़ रुपये की सड़कों का निर्माण किया जा रहा है। 

राज्य में 2015 और 2020 के बीच भूमि अधिग्रहण को लेकर 365 करोड़ रुपये का वितरण किया गया है। गडकरी ने कहा कि दो महत्वपूर्ण परियोजनाएं - फेनी ब्रिज और उदयपुर-अगरतला सड़क राज्य में जल्द ही पूरी हो जाएंगी। 750 करोड़ रुपये की 49 किलोमीटर की उदयपुर-अगरतला सड़क अगले महीने पूरी हो जाएगी, जबकि भारत की तरफ सेब्रंग और रामगढ़ के बीच 129 करोड़ रुपये की लागत से 1.8 किलोमीटर लंबा फेनी ब्रिज इस साल दिसंबर तक पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि पुल सामाजिक, आर्थिक और रक्षा के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण है। 

सब्रम और चटगांव के बीच की दूरी 75 किमी है। इस पुल से चटगांव और कोलकाता बंदरगाहों से माल के परिवहन में आसानी होगी। मंत्री ने कहा कि फेनी नदी पर पुल के निर्माण से बांग्लादेश के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा तक कनेक्टिविटी में सुधार होगा। अगरतला शहर के पश्चिमी हिस्से में फोर-लेन बाईपास डीपीआर (विस्तृत परियोजना रिपोर्ट) की तैयारी के तहत है, जो त्रिपुरा में एनएच-8 से एनएच-108बी की कनेक्टिविटी को और बेहतर करेगा। यह अगरतला शहर में यातायात की भीड़ को कम करेगा और हवाईअड्डे से मातबारी को जोड़ेगा।