त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब (biplab kumar deb) ने राज्य के उभरते फुटबॉलरों के लिए विश्वस्तरीय प्रशिक्षण मुहैया कराने के लिए फुटबॉल प्रशिक्षण संस्थान (football training institute) खोलने की घोषणा की है। उन्होंने यह घोषणा उत्तर- पूर्व फुटबॉल संघ (North East Football Association) के अधिकारियों के साथ बैठक में की। 

ये भी पढ़ें

अरुणाचल में है दुनिया का सबसे ऊंचा प्राकृतिक शिवलिंग, आकार देखकर दंग रह जाते हैं लोग

देब  (biplab kumar deb) ने कहा कि त्रिपुरा में उत्तर पूर्व के राज्यों के जैसा ही खेल का बहुत प्रतिभा है लेकिन पिछली सरकार में ठीक से प्रशिक्षण नहीं दिया गया था। उन्होंने कहा कि 2016 के रियो डी जनेरियो ओलंपिक में दिपा कर्माकर ने भारत का प्रतिनिधित्व किया था। वह भारत की पहली महिला पहलवान बनी थीं जिसने ओलंपिक जीता था जिसके बाद से ही त्रिपुरा में इस क्षेत्र पर खासा ध्यान दिया गया। 

ये भी पढ़ें

मोदी शाह की चुनावी रैलियों के बीच चुनाव से पहले हिंसा का विरोध के खिलाफ धरने पर उतरे स्थानीय लोग


उन्होंने (biplab kumar deb) कहा कि 2018 में प्रदेश में भाजपा की सरकरा आने के बाद खेल जगत को बढ़ावा मिला है। उत्तर-पूर्व फुटबॉल संघ (North East Football Association) ने इस साल अक्टूबर में आठ उत्तर-पूर्व के राज्यों के साथ फुटबॉल मुकाबला कराने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे राज्य के गांवों में बड़ी मात्रा में फुटबॉल की प्रतिभा है। खेल विभाग प्रतिभावान खिलाड़ियों को खोजने के लिए विशेष अभियान चलायेगा तथा सभी को संस्थान से विश्व स्तरीय प्रशिक्षण मुहैया कराया जायेगा। उल्लेखनीय है कि एनईएफए के आठ सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल ने यहां मुख्यमंत्री तथा खेल एवं युवा मामलों के मंत्री से पहली क्षेत्रीय फुटबॉल मुकाबला कराने के लिए चर्चा की।