त्रिपुरा के भाजपा विधायक सुदीप रॉय बर्मन के खिलाफ अगरतला के क्षेत्रीय कैंसर केंद्र के सामने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा लगाने की पहल करने के लिए एक प्राथमिकी दर्ज की गई है। यह मुकदमा अटल बिहारी वाजपेयी क्षेत्रीय कैंसर केंद्र, अगरतला के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. गौतम मजुमदार द्वारा दायर की गई है। इन्होंने यह आरोप लगाया गया है कि चिकित्सा अधीक्षक ने पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सुधीर रॉय बर्मन के खिलाफ त्रिपुरा भाजपा के शीर्ष नेताओं द्वारा निर्देशित मामला दर्ज किया गया था।


सुदीप रॉय बर्मन के कार्यकाल में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के रूप में था, अगरतला क्षेत्रीय कैंसर केंद्र का नाम बदलकर अटल बिहारी वाजपेयी क्षेत्रीय कैंसर केंद्र, अगरतला कर दिया था। कैंसर केंद्र के सामने वाजपेयी की प्रतिमा लगाने की पहल की गई है। बर्मन ने कहा कि उन्होंने तय किया कि प्रतिमा का उद्घाटन 25 दिसंबर को पूर्व पीएम की जयंती पर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा के राज्यपाल को मुख्य अतिथि के रूप में और मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब को भी आमंत्रित किया।


बर्मन ने कहा कि पंडाल लगाने के लिए डेकोरेटर कैंसर अस्पताल गए थे लेकिन उन्हें पुलिस की एक टीम ने ऐसा करने से रोका और पुलिस ने सभी सामानों को जब्त कर लिया और तीनों डेकोरेटरों को गिरफ्तार कर लिया। चिकित्सा अधीक्षक ने भाजपा विधायक बर्मन के खिलाफ एनसीसी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया। डॉ. मजुमदार ने अपनी प्राथमिकी में आरोप लगाया कि विधायक बर्मन को अस्पताल परिसर में प्रतिमा बनाने से मना करने के प्रयास के बावजूद, प्रतिमा का निर्माण बंद नहीं किया। इसलिए मामला दर्ज कराना पड़ा। लेकिन इसका जवाब देते हुए बर्मन ने कहा कि यह पहली बार नहीं है जब मेरे खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। हर बार जब मैंने एक अच्छा काम करने की कोशिश की, तो मेरे साथ ऐसा व्यवहार किया गया।


बर्मन ने यह भी कहा कि अच्छे काम की सरहाना करने के बजाए मेरे खिलाफ जांच का आदेश दिया गया है। अटल बिहारी वाजपेयी का हवाला देते हुए, विधायक सुदीप रॉय बर्मन ने कहा कि एक व्यक्ति बड़ा नहीं हो सकता, जिसकी सोच मतलबी हो। आज, राज्य भर में लोगों की स्थिति बहुत दयनीय है। हम प्रत्येक अपमान और घटनाओं की गिनती कर रहे हैं। त्रिपुरा में भाजपा विधायकों के बीच आंतरिक संघर्ष जारी है। बता दें कि कई पार्टी विधायकों ने हाल ही में मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब और राज्य भाजपा नेतृत्व के खिलाफ अभियान शुरू किया है।