केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को त्रिपुरा में लागू की जा रही 7,719 करोड़ रुपये की कुछ बाहरी सहायता प्राप्त परियोजनाओं समेत 12 विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और इन परियोजनाओं की समीक्षा भी की। साथ ही राज्य को और अधिक EAPs देने का वादा भी किया। दो दिवसीय यात्रा पर FM सीतारमण अगरतला पहुंची जहां उन्होंने राज्य को इसी तरह की और सर्विस और लाइवलीहुड जनरेशन सेक्टर में कुछ और EAPs को मंजूरी देने का भरोसा दिलाया।

उन्होंने मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब, उपमुख्यमंत्री जिष्णु देव वर्मा के साथ एक बैठक लेकर वनीकरण और आजीविका, बिजली पारेषण, जल आपूर्ति और बुनियादी ढांचे के विकास में EAPs की समीक्षा। इस बैठक में मुख्य सचिव कुमार आलोक सहित दूसरे सीनियर अधिकारी भी मौजूद थे।

बैठक के बाद, देब ने ट्वीट करते हुए लिखा कि "ये EAP राज्य के समग्र विकास और अपने नागरिकों की आजीविका की बेहतरी के लिए महत्वपूर्ण हैं। मुख्य सचिव ने कहा कि वित्त मंत्री ने 2,477 करोड़ रुपये से अधिक के सेंट्रल सेक्टर के EAPs और 5,242 करोड़ रुपये के स्टेट सेक्टर के EAPs की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री ने चल रही परियोजना की गति की सराहना की है और त्रिपुरा के लिए कुछ और EAPs को मंजूरी देने की संभावना भी जताई है। इन परियोजनाओं के शुरू होने से बुनियादी ढांचे के विकास के साथ रोजगार मिलने की संभावना भी बढ़ी है।

सीतारमण ने बाद में उत्तर पूर्वी क्षेत्र विद्युत प्रणाली सुधार परियोजना (NERPSIP) के तहत बनाए गए  पश्चिमी त्रिपुरा के मोहनपुर में WHO से सहायता प्राप्त 132 KV इलेक्ट्रिक सब-स्टेशन का उद्घाटन किया। उन्होंने पश्चिमी त्रिपुरा के रामपुर, प्रगति और बदरघाट में उत्तर पूर्व क्षेत्र शहरी विकास परियोजना (NERUDP) के तहत एशियन डेवलपमेंट विकास बैंक के फंडे से तैयार किए जा रहे 20 करोड़ रुपये के तीन भूतल जल उपचार संयंत्रों का भी उद्घाटन किया।

सीतारमण ने 132 पेयजल आपूर्ति योजनाओं के साथ-साथ जल जीवन मिशन के तहत प्रदान किए गए 80,660 घरेलू नल कनेक्शन और ग्रामीण बुनियादी ढांचा विकास कोष और केंद्र सरकार की विशेष योजना सहायता के तहत चलाए जानेवाली 7 परियोजनाओं का भी शुभारंभ किया। केंद्रीय मंत्री ने हाथीपारा वन परिसर में एक आगर वृक्षारोपण केंद्र और पश्चिम त्रिपुरा के गांधीग्राम में एक कोविड टीकाकरण केंद्र का भी दौरा किया।