त्रिपुरा सरकार सरकारी स्कूलों में अलग अलग लेवल पर 3,970 शिक्षकों की नियुक्ति की घोषणा की। यह फैसला कैबिनेट मीटिंग में लिया गया। राज्य के शिक्षा मंत्री रतन लाल नाथ ने कहा कि घोषित सभी पदों में से 65 पोस्ट ग्रेजुएट लेवल के, 430 ग्रेजुएट लेवल और 1,675 अंडर ग्रेजुएट लेवल के पद हैं। स्नातक शिक्षक पदों में माध्यमिक स्तर के लिए 175 शिक्षण पद और प्रारंभिक स्तर के लिए 2,055 अन्य शामिल हैं। अगले साल जनवरी तक इन सभी को भर्ती करने के लिए एक योजना पर विचार किया जा रहा है। टीईटी आयोजित करने के लिए शिक्षक भर्ती बोर्ड, त्रिपुरा (TRBT) को एक प्रस्ताव भेजा जाएगा।

“हमने अपनी कैबिनेट बैठक में 3970 शिक्षकों की नियुक्ति को मंजूरी दी है। हम अपना प्रस्ताव त्रिपुरा टीचर्स रिक्रूटमेंट बोर्ड में भर्ती के लिए भेजेंगे। उन्होंने आगे बताया कि 2018 में भाजपा-आईपीएफटी सरकार के सत्ता में आने के बाद से 1,824 शिक्षकों की नियुक्ति की गई थी। राज्य शिक्षा विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल घोषित एक बार की छूट के साथ शिक्षक भर्ती बोर्ड (TRB) द्वारा आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) को क्रैक करने के बाद 1,675 उम्मीदवार वेटिंग लिस्ट में हैं। इन 1,675 उम्मीदवारों में, प्राथमिक स्तर में पढ़ाने के लिए 650 योग्य टीईटी- I जबकि 1,025 अन्य ने टीईटी-2 को क्रैक किया।

मंत्री ने कहा, “हम दिसंबर और जनवरी के बीच इन टीईटी योग्य उम्मीदवारों को नौकरी की पेशकश भेजने वाले हैं। हम भर्ती बोर्ड को योग्य उम्मीदवारों को नौकरी देने के बाद खाली पड़े पदों को भरने की दिशा में पहल करने के लिए कहेंगे, ”। 33 अंडर ग्रेजुएट टीचर्स और 69 ग्रेजुएट टीचर्स नियुक्त किए गए हैं। जबिक 42 अन्य स्नातक शिक्षकों और 50 स्नातक शिक्षकों को इस सप्ताह नौकरी के प्रस्ताव मिले। राज्य में 4,400 सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में लगभग 27,000 शिक्षक हैं।