राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर त्रिपुरा की डॉक्टर इला लोध (Dr. Ila Lodh of Tripura) को मरणोपरांत नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया। राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में इला लोध सहित विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान के लिए 28 महिलाओं को राट्रपति ने वर्ष 2020 और वर्ष 2021 के नारी शक्ति पुरस्कारों (Nari Shakti Awards) से सम्मानित किया। 

यह भी पढ़ें- कोविंद ने 28 महिला हस्तियों को दिया नारी शक्ति पुरस्कार, सभी ने अपने क्षेत्र में दिया है उल्लेखनीय योगदान

राष्ट्रपति कोविंद ने महिलाओं के स्वास्थ्य, विशेष रूप से गरीबों के प्रति उनके योगदान के लिए डॉ इला लोध (मरणोपरांत) को नारी शक्ति पुरस्कार प्रदान किया। उन्होंने त्रिपुरा के हेपेटाइटिस फाउंडेशन की स्थापना की थी। उनके पुत्र ने यह पुरस्कार राष्ट्रपति के हाथों प्राप्त किया। 

यह भी पढ़ें- पति के लक्ष्य को ही नीलम्मा ने बनाई अपनी मंजिल, 17 वर्षों से कब्रिस्तान में दफना रही है शव

डॉक्टर इला को यह वर्ष 2020 का सम्मान प्रदान किया गया। बता दें कि वर्ष 2020 का सम्मान अभी तक कोरोना महामारी के कारण नहीं दिया जा सका था। एक प्रसूति और स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ इला लोध ने 1990 से 2000 तक त्रिपुरा स्वास्थ्य सेवा के प्रशासनिक निदेशक के रूप में कार्य किया। 

उन्होंने त्रिपुरा के हेपेटाइटिस फाउंडेशन की स्थापना की। वह महिलाओं के स्वास्थ्य के बारे में जागरूकता बढ़ाने में गहराई से शामिल थीं। नारी शक्ति पुरस्कार महिलाओं के स्वास्थ्य में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है।