त्रिपुरा (Tripura) में सत्तारूढ़ भाजपा (BJP) के एक विधायक के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के दो दिन बाद बिप्लब कुमार देब सरकार (Biplab deb government) ने उस नियम को बदलने का फैसला किया है। इसके तहत विधायकों को भत्ते सहित कुछ सुविधाओं का आजीवन लाभ लेने की अनुमति मिलती है, भले ही वे सिर्फ एक दिन के लिए ही क्यों न रहे हों।

सूचना और संस्कृति मंत्री सुशांत चौधरी (information and culture minister sushant chaudhary) ने बुधवार को बताया कि प्रस्तावित नए नियमों के अनुसार, विधायकों को इस तरह के लाभों के हकदार होने के लिए एक पूर्ण कार्यकाल पूरा करने की आवश्यकता होगी। उन्होंने बताया कि मंत्रिपरिषद द्वारा मंगलवार को इस बाबत सकारात्मक निर्णय किया गया था।

धलाई जिले के सूरमा (एससी) निर्वाचन क्षेत्र के भाजपा विधायक आशीष दास रविवार को अगरतला में तृणमूल कांग्रेस महासचिव अभिषेक बनर्जी की एक रैली में तृणमूल में शामिल हुए। उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा नहीं दिया। पिछली वाम मोर्चा सरकार ने एक नियम बनाया था कि जिस विधायक ने कम से कम चार साल की सेवा की होगी उसी को सभी सुविधाएं और वित्तीय लाभ दिए जाएंगे।