अगरतला। त्रिपुरा के पूर्व मंत्री जितेंद्र चौधरी को अगले तीन वर्ष के लिए मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) का प्रदेश सचिव चुना गया है। पार्टी सूत्रों ने रविवार को एक बयान में यह जानकारी दी। 

इस बार महाशिवरात्रि पर बन रहा अद्भुत संयोग, ये है शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

बयान के मुताबिक माकपा के वरिष्ठ नेता चौधरी को शनिवार को पार्टी के 23वें राज्य सम्मेलन में प्रदेश सचिव चुना गया। सम्मेलन में पूर्व मुख्यमंत्री माणिक सरकार सहित 70 सदस्यों के साथ राज्य समिति का पुर्नगठन किया गया।

बता दें कि साल 2018 में राज्य विधानसभा चुनाव में माकपा को सत्ता से हाथ धोना पड़ गया था। त्रिपुरा में माकपा की सरकार 20 साल से लगातार सत्ता में थी। लेकिन पिछले विधानसभा चुनाव में मोदी लहर में माकपा का किला ढह गया था। इसके बाद बीजेपी ने आईपीएफटी के साथ राज्य में गठबंधन की सरकार बनाई। जिसमें बिप्लब कुमार देब मुख्यमंत्री बने।

मणिपुर वोटिंग में मचा बवाल, पोलिंग के दौरान ही भिड़े कांग्रेस-BJP समर्थक, हुई फायरिंग

बता दें कि राज्य में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इसकों लेकर राजनीतिक पार्टियां भी से ही तैयारियों में जुट गई है। राज्य में विधानसभा की 60 सीटें हैं।