अगरतला। उत्तर त्रिपुरा जिले में एक कोरोना संक्रमित मरीज (corona infected patient) ने आत्म हत्या कर ली है। जिले में स्थित कोरोना प्रतीक्षा केंद्र में कोरोना संक्रमित एक ट्रक सहायक ने कथित रूप से फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। वह पंजाब के पठानकोट का रहने वाला था।

पुलिस ने गुरुवार को जानकारी दी कि ट्रक चालक तारसेन सिंह अपने सहायक बलबिंदर सिंह (33) के संग मंगलवार रात को पठानकोट से त्रिपुरा के चौड़ाईबाड़ी जांच द्वार आया था।

राज्य में जारी गाइडलाइन के तहत बाहर से आने वाले लोगों के लिए कोविड-19 जांच अनिवार्य है। इसी के तहत वे उसी रात चुड़ाईबाड़ी बिक्री कर परिसर में जांच के लिए गए। जांच में तारसेन की रिपोर्ट निगेटिव आई जबकि बलबिंदर की कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद उसे स्वास्थ्य कर्मी एक कक्ष में ले गए जहां से उसे पानीसागर में आइसोलेशन सेंटरमें भेजा जाना था।

लेकिन स्वास्थ्य टीम जब बलबिंदर को पृथक केंद्र ले जाने के लिए बिक्री कर परिसर पहुंची तो वह उन्हें फंदे पर लटका मिला। सूचना मिलने पर चुड़ाईबाड़ी थाने से पुलिस टीम मौके पर पहुंची और कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए शव को कब्जे में लिया।

चुड़ाईबाड़ी थाने के प्रभारी अधिकारी बिबास रंजन दास ने जानकारी दी कि पृथम दृष्टया लगता है कि बलबिंदर ने कोरोना के डर से अपने ट्रैक सूट की रस्सी से खुदकुशी की है। साथ ही उन्होंने कहा कि फिलहाल अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है तथा मृतक के परिजनों को इस बाबत सूचित कर दिया गया है।