कोरोना वायरस से अब तक दुनिया में 45 लाख से ज्यादा लोगों की मौतें हो चुकी है। अभी भी इसकी सिलसिला जारी है। 4 करोड़ से ज्यादा लोगों कोरोना के शिकार हो चुके हैं। इसकी वैक्सीन अभी तक नहीं बनी है। हाल ही में त्रिपुरा के एक डॉक्टर की अगरतला के ILS अस्पताल में COVID -19 में मौत हो गई है। डॉ. बबलू शुक्ला दास, जो IGM अस्पताल में एक एनेस्थेटिस्ट हैं।


जिन्होंने वायरल संक्रमण के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था। लोगों का इलाज करते करते डॉक्टर भी इस बीमारी के शिकार हो गए। ऑल त्रिपुरा गवर्नमेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (ATGDA) के सचिव डॉ, राजेश चौधरी ने कहा कि डॉ. शुक्ला दास को कोरोना हो गया था पिछले एक सप्ताह से वह अस्वस्थ हैं। खुद को आइसोलेशन मे भी रखा और इलाज करवाया था। लेकिन कोरोना ने शरीर को बहुत ही बुरे तरीके से जकड़ लिया था।

डॉ. शुक्ला दास वह निमोनिया से पीड़ित थे और बुखार से पीड़ित थे। उन्हें सांस लेने में तकलीफ की भी शिकायत की थी। एटीजीडीए ने कहा कि एक सप्ताह के दौरान, राज्य में लगभग दो सौ डॉक्टरों और नर्सों ने घातक वायरस से संक्रमित किया था। कोविड-19 के कारण राज्य में अब तक 340 लोगों की मौत हो चुकी है। सभी लोग कोरोना वैक्सीन का इंतजार कर रहे हैं।