TTAADC में सत्तारूढ़ TIPRA (स्वदेशी प्रगतिशील क्षेत्रीय गठबंधन) के अध्यक्ष ने कहा है कि उनका हिस्सा TTAADC की शक्ति और स्वायत्तता को कमजोर करने के लिए "सरकार में कुछ तत्वों" द्वारा किसी भी प्रयास को बर्दाश्त नहीं करेगा। प्रद्योत देबबर्मा ने कहा कि “यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सरकार में कुछ तत्व TTAADC (त्रिपुरा जनजातीय क्षेत्र स्वायत्त जिला परिषद) की शक्तियों और स्वायत्तता को कम करना चाहते हैं।

प्रद्योत ने बताया कि हम इन लोगों को छठी अनुसूची को कमजोर नहीं करने देंगे। मैं सम्मानजनक दृष्टिकोण, सहयोग और सकारात्मक राजनीति में विश्वास करता हूं लेकिन कुछ लोग इस रवैये को कमजोरी के रूप में लेते हैं। उन्होंने अंबासा में अपनी पार्टी के नेताओं के साथ बैठक करने के बाद यह बात कही।


प्रद्योत देबबर्मा ने तत्कालीन क्षेत्रीय पार्टी आईएनपीटी के पूर्व प्रमुख बिजॉय कुमार हरंगखवल के साथ भी चर्चा की, जिसका हाल ही में टीआईपीआरए में विलय हुआ था। बैठक में प्रद्योत देबबर्मा ने कहा कि "बैठक में आगे की राह पर चर्चा की गई और हमारे साथ आईएनपीटी के विलय के बाद भविष्य की कार्रवाई की योजना बनाई गई।" देबबर्मा ने कहा कि "यह महत्वपूर्ण है कि हम अपने लक्ष्य निर्धारित करें, यानी ग्रेटर टिपरालैंड प्राप्त करना, सीएए और एनआरसी का विरोध।"