अगरतला: कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य और त्रिपुरा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी अजय कुमार ने गुरुवार को दावा किया कि त्रिपुरा में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी की ओर इशारा करते हुए कहा कि त्रिपुरा स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव संभव नहीं है।

यह भी पढ़े : Aaj ka rashifal April 22: आज इस राशि वाले लोग धन के मामले में बढ़ेंगे आगे, काली वस्‍तु का दान करें, पढ़ें सभी राशियों का हाल


कुमार नई दिल्ली में मुख्य चुनाव आयुक्त के साथ बैठक के बाद टीपीसीसी अध्यक्ष बिरजीत सिन्हा और कांग्रेस नेता सुदीप रॉय बर्मन के साथ मीडियाकर्मियों को जानकारी दे रहे थे।

कुमार ने कहा, त्रिपुरा में भाजपा का शासन अराजकता से कम नहीं है। भगवा पार्टी विपक्ष की आवाज दबाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।  हाल ही में हुए नगर निकाय चुनावों में हुई हिंसा से संकेत मिलता है कि आगामी चुनावों में क्या स्थिति उत्पन्न हो सकती है। 

उन्होंने कहा, 'हमने हाल की हर घटना के बारे में बताते हुए चुनाव आयोग के समक्ष अपना पक्ष रखा है। हमारे कार्यकर्ताओं पर हमला किया गया है।  पूरे त्रिपुरा में कांग्रेस के नेता भयानक राजनीतिक प्रतिशोध के अंत में हैं।  यहां तक ​​कि सुदीप रॉय बर्मन और बिरजीत सिन्हा जैसे नेता भी निशाने पर आ गए हैं। भाजपा के प्रायोजन के तहत अपने क्षेत्र के दिनों का आनंद ले रहे बदमाश राज्य में एक दलीय शासन स्थापित करने के लिए सब कुछ कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन सभी मुद्दों को मुख्य चुनाव आयुक्त के सामने रखा गया था। डॉ कुमार के अनुसार, चुनाव आयोग ने कांग्रेस की शिकायतों को धैर्यपूर्वक सुना और पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़े : Shani Gochar 2022: 30 साल के बाद शनि अपनी ही राशि में आ रहे हैं, इन राशियों पर होगी खुशियों की बरसात


पुलिस की भूमिका पर अफसोस जताते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, “भाजपा के मोटरसाइकिल सवार बदमाश शांतिपूर्ण त्रिपुरा के लिए चिंता का एक वास्तविक कारण बन गए हैं। बार-बार संपर्क करने के बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। उनकी (पुलिस) भूमिका मूकदर्शक से बेहतर कुछ नहीं है।

उन्होंने आशा व्यक्त की कि चुनाव आयोग त्रिपुरा में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कदम उठाएगा।