अगरतला: त्रिपुरा विधानसभा में त्रिपुरा के कानून मंत्री रतन लाल नाथ पर बलात्कार पीड़िता को पुलिस के पास जाने से रोकने के लिए धमकाने का आरोप लगाने के एक दिन बाद कांग्रेस विधायक सुदीप रॉय बर्मन ने मंगलवार को त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा और भाजपा से मांग की। मंत्री के खिलाफ कार्रवाई करें।

यह भी पढ़े :Navratri 3rd Day : नवरात्रि का तीसरा दिन आज, इस मंत्र का करें जाप , जानिए शुभ मुहूर्त, भोग व शुभ रंग


त्रिपुरा कांग्रेस विधायक सुदीप रॉय बर्मन ने कहा, मैंने मुख्यमंत्री और सभी सदस्यों की उपस्थिति में विधानसभा के पटल पर बलात्कारी जो कि एक शीर्ष भाजपा नेता होता है की रक्षा के लिए घटना और कानून मंत्री की संलिप्तता का विस्तृत विवरण दिया है। विधानसभा की कार्यवाही में दर्ज अब यह सीएम और बीजेपी को कार्रवाई का फैसला करना है। 

यह भी पढ़े : Horoscope September 28 : इन राशियों के लिए समय बहुत खराब , ये लोग सफेद वस्‍तु पास रखें


उन्होंने चेतावनी दी कि अगर त्रिपुरा के मुख्यमंत्री ने मंत्री रतन लाल नाथ के खिलाफ कार्रवाई नहीं की तो मामले को शांत नहीं होने दिया जाएगा। इसे भाजपा और प्रधान मंत्री के उच्चतम स्तर पर भेजा जाएगा। हम न्यायपालिका का दरवाजा भी खटखटाएंगे।

सुदीप रॉय बर्मन ने त्रिपुरा विधानसभा में आरोप लगाया कि कुछ दिन पहले एक निर्जन महिला ने राज्य के कानून मंत्री के निर्वाचन क्षेत्र के लेफुंगा पुलिस थाने में एक भाजपा नेता और उनके भतीजे के खिलाफ बलात्कार की शिकायत की थी।

यह भी पढ़े :नवरात्रि के छठे दिन बुध ग्रह होगा मार्गी , इन राशियों पर पड़ेगा शुभ- अशुभ प्रभाव


रॉय बर्मन ने कहा, लेकिन पुलिस ने शिकायत को स्वीकार करने से इनकार कर दिया क्योंकि त्रिपुरा के कानून मंत्री ने उन्हें इसे दर्ज नहीं करने का निर्देश दिया था और इसके बजाय पीड़ित को विवाद को सुलझाने के लिए मंत्री से मिलने की सलाह दी थी। 

बाद में नाथ ने पीड़िता को फोन किया और उसे पुलिस के पास न जाने या घटना के बारे में किसी को नहीं बताने की चेतावनी दी। अन्यथा उनके परिवार के सदस्य अपनी मौजूदा नौकरी खो देंगे उनके बेटे को छात्रावास से बाहर कर दिया जाएगा और उनका जीवन भयानक हो जाएगा।