त्रिपुरा में विपक्षी दल मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने आरोप लगाया कि सिपाहीजाला जिले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के समर्थकों के हमले में बुधवार को उसका एक कार्यकर्ता मारा गया और पूर्व वित्त मंत्री भानु लाल साहा सहित 12 अन्य घायल हो गए। भाजपा ने इस आरोप का खंडन करते हुए दावा किया कि विपक्षी पार्टी चारिलाम इलाके में गड़बड़ी पैदा करने की कोशिश कर रही थी और जब उसके समर्थकों ने इसका विरोध करने का प्रयास किया, तो झड़प हो गई।

यह भी पढ़ें- असम की लड़की ने पूरी दुनिया को चौंकाया, खुद में लगाया एड्स पॉजिटिव प्रेमी के खून का इंजेक्शन, हुआ ऐसा हाल

विशालगढ़ के सब-डिवीजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) बी. बी. दास ने कहा कि पुलिस ने स्थिति को तुरंत नियंत्रण में किया और हताहतों की सही संख्या का अभी पता नहीं चल पाया है। पूर्व मंत्री साहा ने कहा कि विभिन्न मांगों को लेकर प्रखंड विकास अधिकारी (बीडीओ) को प्रतिनियुक्ति देने के लिए माकपा के सैकड़ों समर्थक चारिलाम में पार्टी कार्यालय में एकत्र हुए।

उन्होंने आरोप लगाया, 'हमारे नेता दोपहर लगभग 1.30 बजे पार्टी कार्यालय के सामने एक रैली को संबोधित कर रहे थे और उसके बाद बीडीओ कार्यालय की ओर बढ़े। अचानक भाजपा समर्थित उपद्रवियों के एक समूह ने रैली पर बम फेंका। जब हमारी पार्टी के कार्यकर्ता भागने लगे तो उन्होंने लाठियों और लोहे की छड़ों से हम पर हमला करना शुरू कर दिया। 

यह भी पढ़ें- एड्स से नहीं बचाता फीमेल कंडोम! मेल कंडोम ही है कारगर, जानिए कैसे

उन्होंने दावा किया, इस हमले में घायल हुए हमारे एक नेता - अरलिया के रहने वाले शाहिद मिया की गोविंद बल्लभ पंत (जीबीपी) अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। हमले में हमारी पार्टी के 12 से 15 समर्थक घायल हो गए। 

एसडीएम ने कहा कि उन्होंने पुलिस से रिपोर्ट मांगी है। विशालगढ़ थाना प्रभारी बादल चंद्र दास ने कहा, चारिलाम में एक अप्रिय घटना हुई और कुछ लोग घायल हो गए, लेकिन मैं आधिकारिक तौर पर यह नहीं कह सकता कि किसी व्यक्ति की मौत हुई है या नहीं। घायलों को नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।