भारत के मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबड़े ने अगरतला में त्रिपुरा उच्च न्यायालय में ई-सेवा केंद्र का उद्घाटन किया है। इस कार्यक्रम में त्रिपुरा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश, अखिल कुरैशी और अन्य गणमान्य व्यक्ति शामिल थे। उद्घाटन कार्यक्रम में त्रिपुरा उच्च न्यायालय के न्यायाधीश, न्यायमूर्ति सुभासिस तालापात्रा और न्यायमूर्ति एस.जी. चटर्जी और अन्य प्रतिष्ठित वकील भी शामिल थे। इस अवसर पर CJI बोबडे ने कहा कि हालांकि प्रौद्योगिकी की प्रगति संसाधनों पर निर्भर करती है।


लेकिन ई.सेवा केंद्र जैसी प्रणाली लोगों को कानूनी प्रणाली तक अधिक पहुंच बनाने में मदद करेगी। उन्होंने त्रिपुरा की समृद्ध संस्कृति और विरासत पर भी प्रकाश डालकर सभा को संबोधित करते हुए कहा कि त्रिपुरा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एए कुरैशी ने मानवीय स्पर्श के साथ प्रौद्योगिकी से सावधान रहने पर जोर दिया। मुकदमों की स्थिति के संबंध में जानकारी प्राप्त करने और निर्णयों और आदेशों की प्रतियां प्राप्त करने के लिए वादियों को सक्षम करने के लिए उच्च न्यायालय में ई-सेवा केंद्र बनाए गए हैं।


ये केंद्र मामलों की ई-फाइलिंग में सहायता भी प्रदान करते हैं। सीजेआई बोबडे एक दिन की यात्रा पर बुधवार को सुबह अगरतला पहुंचे। उन्होंने उदयपुर के त्रिपुरेश्वरी मंदिर का भी दौरा किया। CJI बोबड़े त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के साथ उनकी त्रिपुरेश्वरी मंदिर यात्रा के दौरान थे। CJI बोबड़े ने पूर्वोत्तर के दौरा कर रहे हैं और इसी दौरे में वह कई तरह के मुद्दों पर राज्य सरकारों से बात कर रहे हैं और समाधान भी कर रहे हैं।