बीजेपी अपने राज राज्यों में कई तरह के बदलाव कर रही है। हाल ही में खबर मिली है कि फरवरी में त्रिपुरा राज्य मंत्रिमंडल का विस्तार होने की संभावना है। वर्तमान राज्य मंत्रिमंडल में आठ सदस्य हैं, जबकि चार मंत्री पद खाली पड़े हैं। 60 त्रिपुरा राज्य विधानसभा में 12 सदस्यीय मंत्रिमंडल हो सकता है। कैबिनेट ने दो मंत्रियों को छोड़ने और 12 की पूरी ताकत तक पहुंचने के लिए छह और शामिल करने की संभावना है।


बता दें कि इस बात की कोई पुष्टि नहीं है कि किसे शामिल किया जाएगा, सूत्रों ने कहा कि मंत्रियों को मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा, जो लिंग, जिला आदि के प्रतिनिधित्व के आधार पर शामिल होंगे। त्रिपुरा विधानसभा के स्पीकर, डिप्टी स्पीकर और मुख्य सचेतक के पदों में फेरबदल होने की संभावना है, हालांकि अभी तक कोई नाम नहीं सुझाया गया है। भाजपा के सूत्रों ने पुष्टि की कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा और अन्य शीर्ष नेताओं को राज्य मंत्रिमंडल के विस्तार के लिए हरी झंडी दे दी गई है।


त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने हाल ही में नई दिल्ली का दौरा किया, जहां उन्होंने भाजपा के केंद्रीय नेताओं के साथ मुलाकात की। मुख्यमंत्री वर्तमान में 27 विभागों के प्रभारी हैं, जिनकी विपक्ष और साथ ही उनकी पार्टी के सहयोगियों ने भी आलोचना की है। त्रिपुरा के विपक्षी दल और भाजपा पार्टी के सदस्य राज्य में बेहतर प्रशासन के लिए मंत्रिमंडल में फेरबदल और विस्तार की मांग कर रहे हैं।