विपक्षी CPI-M ने महाराजा बीर बिक्रम (MBB) हवाई अड्डे के संचालन को अडानी समूह को सौंपने के केंद्र ने फैसले पर विरोध जताया है। MBB हवाई अड्डे पर एक नए टर्मिनल भवन का उद्घाटन करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की शहर यात्रा से ठीक एक दिन पहले यह मांग आई है।

माकपा नेता माणिक डे (Manik Dey) ने कहा कि "हम मोदी सरकार के फैसले की निंदा करते हैं जो अगरतला में MBB हवाईअड्डे का संचालन अडानी समूह (Adani group) को सौंपने जा रही है। अडानी समूह को हवाई अड्डा सौंपना त्रिपुरा के लोगों के साथ विश्वासघात के अलावा और कुछ नहीं है "।


उन्होंने कहा कि "इस सार्वजनिक संपत्ति का इस्तेमाल अब एक निजी पार्टी मुनाफा कमाएगी।" मौजूदा हवाई अड्डे (Airport) के दक्षिणी छोर में 0.03 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में 438 करोड़ रुपये की लागत से नया एकीकृत टर्मिनल भवन बनाया गया है। यह 20 चेक-इन काउंटरों के साथ एक बार में 1,200 यात्रियों को पूरा करने की उम्मीद है।