मीडिया में यह अफवाह उड़ी है कि पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के पास मुख्यमंत्री के लिए आवंटित विवादित घर में 60 करोड़ रुपये नकद हैं। इसका जवाब देते हुए, कांग्रेस नेता सुदीप रॉय बर्मन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में पूछा कि सरकार, बीजेपी और बिप्लब देब ने इस खबर का जवाब क्यों नहीं दिया। न तो भाजपा और न ही बिप्लब देब ने आरोपों से इनकार किया है।


कांग्रेस नेता सुदीप रॉय बर्मन ने सवाल किया कि आरोप बहुत गंभीर था। इसलिए राज्य सरकार को इसकी जांच करनी चाहिए। सुदीप रॉय बर्मन ने आशा व्यक्त की कि चुनाव आयोग और आयकर विभाग आवश्यक कदम उठाएंगे। कांग्रेस मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन आयोजित किया गया जहां श्री बर्मन ने वहां के समाचार पत्र में प्रकाशित एक अन्य समाचार पर प्रतिक्रिया व्यक्त की।


राज्य सरकार की ओर से जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि विधायकों के लिए बनाए गए नए आवास अन्य लोगों को उपलब्ध कराए जा रहे हैं। लोक निर्माण विभाग ने चोरी की आशंका वाले क्षेत्र की पहचान करते हुए काम को भी स्थगित कर दिया है। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए सुदीप रॉय बर्मन ने कहा कि रिपोर्ट में राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था की स्थिति स्पष्ट है।