त्रिपुरा निकाय चुनाव में भाजपा ने बड़ी जीत दर्ज की है। दरअसल, त्रिपुरा में अगरतला निगर निगम (Agartala Municipal Corporation और 13 नगर निकाय की 334 सीटों पर मतदान हुआ था, जिनमें से बीजेपी ने 329 सीटों (BJP has won 329 seats) पर जीत दर्ज की है। चुनाव में भाजपा के शानदार प्रदर्शन से पार्टी नेता और कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर है। पार्टी की इस बड़ी कामयाबी पर बीजेपी उपाध्यक्ष दिलीप घोष (BJP Vice President Dilip Ghosh) ने भी लोगों को धन्यवाद कहा है। उन्होंने कहा कि ये जनता का बीजेपी पर भरोसा है।

इस दौरान दिलीप घोष ने तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि निकाय चुनाव के नतीजों ने पूर्वोत्तर राज्यों में पैठ जमाने का टीएमसी के खोखले दावों को उजागर कर दिया है। इससे साबित हो गया है कि राज्य के लोग टीएमसी के बारे में क्या सोचते हैं और उनपर कितना भरोसा करते हैं। उन्होंने कहा कि चुनावी नतीजे जनता का बीजेपी पर विश्वास का प्रमाण हैं।

उन्होंने कहा कि टीएमसी राज्य में सरकार बनाने के दावे कर रही है, लेकिन निकाय चुनाव के नतीजों ने टीएमसी के इस सपने को पानी-पानी कर दिया है। साबित हो गया है कि राज्य में टीएमसी का खाता खुलने का भी कोई आसार नहीं है। दिलीप घोष ने कहा कि टीएमसी के लोग राज्य में सिर्फ शोर मचा रहे हैं, उनका यहां कोई अस्तित्व नहीं है। बीजेपी उपाध्यक्ष यही नहीं रुके उन्होंने कहा कि बंगाल से आए कुछ भाड़े के लोग राज्य में टीएमसी का आधार बनाने में पूरी तरह से नाकाम हुए हैं।

गौरतलब है कि त्रिपुरा निकाय चुनाव में भाजपा ने विपक्ष का सूपड़ा साफ कर दिया है। अगरतला सहित 14 निकायों में भाजपा ने कुल 334 वार्ड्स में से भाजपा ने 329 पर कब्जा जमा लिया है। बता दें कि कुल 334 सीटों में से 222 पर 25 नवंबर को मतदान हुआ था। वहीं इनमें से 217 सीटों पर भाजपा ने जीत हासिल की है, जबकि 112 पर उसके प्रत्याशी निर्विरोध चुने गए हैं।