त्रिपुरा में बिप्लब देब के नेतृत्व वाली सरकार ने कोकबोरोक में राज्य के दो स्थानों कोल लेकर बड़ा फैसला किया है। राज्य सरकार ने दो जगहों के नाम में बदलाव किया किया है। इन्होंने त्रिपुरा में सबसे पूर्वी शहर गंडाचेरा (Gandachera) और राज्य की सबसे ऊंची पहाड़ी श्रृंखला अथरमुरा (Atharamura) का नाम बदलकर कोकबोरोक (Kokborok) कर दिया गया है।


44वें कोकबोरोक दिवस (Kokborok) के अवसर पर त्रिपुरा में इन दो स्थानों का नाम बदल दिया गया। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब (Biplab Deb) ने राज्य के इन दो महत्वपूर्ण स्थानों का नाम बदलने के लिए अपनी सरकार के फैसले की घोषणा की है। सीएम बिप्लब देब ने कहा, "धलाई जिले के गंडाचेरा को अब गंडा तुइसा और अतरामुरा को हचुक बेरेम (Hachuk Berem) के नाम से जाना जाएगा।"

बता दें कि विशेष रूप से, पिछले कोकबोरोक दिवस में, बारामुरा पहाड़ी श्रृंखला का नाम बदलकर हटई कटार कर दिया गया था। जानकारी दे दें कि हटई कटार (Hatai Katar) बड़ी संख्या में हॉर्नबिल पक्षी का घर है। कोकबोरोक त्रिपुरा के 19 आदिवासी समुदायों में से अधिकांश की भाषा है। इस कारण से सरकार ने हटई कटार (Hatai Katar) नाम रखा है।