बांग्लादेश सरकार (Bangladesh Government) ने दुर्गा पूजा (Durga Puja)से

पहले 10 साल बाद 'हिलसा मछली (Hilsa fish)' के त्रिपुरा (Tripura) के

निर्यात पर प्रतिबंध हटा दिया है। त्रिपुरा (Tripura) ने अगरतला इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट (ICP) के जरिए कुल 2,000 किलो 'हिलसा मछली (Hilsa fish)'  का निर्यात किया है। बाजार की मांग को समझते हुए अगले 04 अक्टूबर से बड़ी मात्रा में हिलसा मछली आयात करने की योजना है।

बांग्लादेश सरकार (Bangladesh Government) ने दुर्गा पूजा उत्सव के दौरान 'हिलसा मछली (Hilsa fish)' निर्यात पर प्रतिबंध हटाकर त्रिपुरा (Tripura) को उपहार में दिया  है। अगरतला इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट के कस्टम सुपरिंटेंडेंट जॉयदीप मुखर्जी (Customs Superintendent Joydeep Mukherjee) ने कहा कि 'बांग्लादेश से 2000 किलो 'हिलशा' मछली आई है।

सद्भावना के संकेत के रूप में, बांग्लादेश सरकार (Bangladesh Government) ने दुर्गा पूजा (Durga Puja) के अवसर पर भारत को 1,450 टन हिलसा मछली के निर्यात को मंजूरी दी है। बांग्लादेशी हिल्सा को भारत के पश्चिम बंगाल में एक स्वादिष्ट व्यंजन माना जाता है, और लोग इसके लिए उच्च कीमत चुकाने को तैयार हैं।

माना जाता है कि 'पद्मार इलिश' (बांग्लादेश में पद्मा नदी से निकला हिल्सा) स्वाद में बेहतर गुणवत्ता वाला माना जाता है। वाणिज्य मंत्रालय ने नौ स्थानीय कंपनियों को हिलसा के निर्यात की अनुमति दी है।