त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब (CM Biplab Kumar Deb) ने बांग्लादेश सरकार से उस देश में अल्पसंख्यकों के जीवन, संपत्ति और धार्मिक स्थलों की रक्षा करने का आग्रह किया है। मीडिया को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि " ऐसा लगता है कि कट्टरपंथी ताकतों ने अपनी पूर्व नियोजित साजिशों के तहत अल्पसंख्यकों पर हमला किया है और पिछले सप्ताह समाप्त हुए दुर्गा पूजा उत्सव की मूर्तियों और पंडालों में तोड़फोड़ (Durga Puja pandals vandalized) की है "।


देब ने आगे कहा कि "हाल की घटनाएं बहुत शर्मनाक हैं। मुझे बांग्लादेश प्रशासन (Bangladesh ) पर भरोसा है। वे स्थिति से प्रभावी ढंग से निपटेंगे। भारत और बांग्लादेश के बीच दोस्ती बहुत पुरानी है। हमें इसे बनाए रखना चाहिए। कट्टरपंथियों या किसी अन्य ताकत को इन्हें नष्ट करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए "। बता दें कि देब (CM Biplab) ने पिछले हफ्ते बांग्लादेश में भारतीय उच्चायुक्त विक्रम के. दोराईस्वामी से बात की थी।


सीएम के एक करीबी सूत्र ने बताया कि "डोरईस्वामी ने देब को सूचित किया कि उन्होंने और बांग्लादेश में विभिन्न राजनयिक मिशनों में अन्य भारतीय अधिकारियों ने जमीनी स्तर पर घटनाओं का विवरण जानने के लिए विभिन्न स्थानों का दौरा किया है।"


असम और त्रिपुरा में कई अन्य संगठनों, बुद्धिजीवियों, राजनीतिक दलों और गैर सरकारी संगठनों ने बांग्लादेश में हिंसक घटनाओं के खिलाफ विरोध रैलियों की निंदा और आयोजन किया है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, दुर्गा पूजा स्थल (Durga Puja pandals) पर कुरान के कथित अपमान के बारे में सोशल मीडिया पर अपुष्ट पोस्ट वायरल होने के बाद, पिछले हफ्ते की शुरुआत में कोमिला में भीड़ की हिंसा भड़क उठी थी, जिसके बाद हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ की गई थी।

.