सीमा पार अल्पसंख्यकों को निशाना बनाने वाली हिंसा को देखते हुए बांग्लादेश सरकार (Bangladesh government) का अगरतला में गुरुवार से शुरू होने वाला तीन दिवसीय फिल्म महोत्सव (film festival) स्थगित कर दिया गया है। आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार रात यह जानकारी दी।

अगरतला में बांग्लादेश सहायक उच्चायोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि महोत्सव अपरिहार्य परिस्थितियों के कारण स्थगित कर दिया गया है।

अधिकारी ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया, प्रस्तावित फिल्म महोत्सव में, 34 फिल्मों, जिनमें से ज्यादातर मुक्ति युद्ध (1971 बांग्लादेश मुक्ति संग्राम) पर आधारित थीं, को 21 से 23 अक्टूबर तक रवींद्र सतबर्शिकी सभागार में प्रदर्शित करने की योजना थी।

इस बीच, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब (Tripura Chief Minister Biplab Kumar Deb) ने मंगलवार को बांग्लादेश सरकार (Bangladesh government) से उस देश में अल्पसंख्यकों के जीवन, संपत्ति और धार्मिक स्थलों की रक्षा करने का आग्रह किया।

असम (Assam) और त्रिपुरा (Tripura) में कई संगठनों, बुद्धिजीवियों, राजनीतिक दलों और गैर सरकारी संगठनों ने पड़ोसी देश में सांप्रदायिक हिंसा के खिलाफ विरोध रैलियों का आयोजन करने के अलावा, बांग्लादेश में हिंदू समुदाय (Hindu community in Bangladesh) के लोगों पर हाल के हमलों की निंदा की है।

उन्होंने अगरतला और गुवाहाटी में बांग्लादेश के सहायक उच्चायुक्तों से मुलाकात की और उनसे आग्रह किया कि वे अपनी सरकार से अल्पसंख्यकों पर हमला करने वालों, दुर्गा पूजा पंडालों और गैर-मुस्लिम परिवारों की संपत्तियों पर हमला करने वालों के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करने का अनुरोध करें।

मीडिया रिपोटरें के अनुसार, दुर्गा पूजा स्थल पर कुरान के कथित अपमान के बारे में सोशल मीडिया पर अपुष्ट पोस्ट वायरल होने के बाद, पिछले हफ्ते की शुरुआत में कुमिला में हिंसा भड़क उठी थी, जिसके बाद मंदिरों में तोड़फोड़ की गई थी।

दुर्गा पूजा पंडालों पर हमले को लेकर दर्ज मामलों के सिलसिले में चांदपुर, चटगांव और अन्य जगहों से बड़ी संख्या में लोगों को हिरासत में लिया गया है। हाजीगंज, चांदपुर, नोआखाली, कॉक्स बाजार, चट्टोग्राम, चपैनवाबगंज, पबना, मौलवीबाजारा, कुरीग्राम और कई अन्य स्थानों से भी हिंसा की घटनाएं सामने आई हैं।

प्रधानमंत्री शेख हसीना (Prime Minister Sheikh Hasina) ने दुर्गा पूजा (durga puja) के दौरान कोमिला मंदिर (komila mandir) में एक दुर्गा मूर्ति के चरणों में कुरान की नकली तस्वीरें फैलाकर सांप्रदायिक अशांति भड़काने में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का वादा किया है।