पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और कांग्रेस नेता सुदीप रॉय बर्मन के सुरक्षा कर्मचारी और ड्राइवर के साथ यहां एक वरिष्ठ वकील के आवास के बाहर हमला हुआ। घटना के समय अधिवक्ता सोमिक देब के साथ कानूनी मामले पर चर्चा कर रहे  बर्मन बाल-बाल बच गए। कृष्णानगर इलाके में हमले की सूचना मिलने के बाद पुलिस अधिकारी सीआरपीएफ और टीएसआर की टुकड़ियों के साथ मौके पर पहुंचे। उनके आने से पहले ही बदमाश मौके से फरार हो गए।

ये भी पढ़ेंः TMC का बड़ा आरोप, त्रिपुरा में महिलाओं को सुरक्षा नहीं दे पा रही है बिप्लब देब सरकार


पूर्व विधायक आशीष कुमार साहा सहित अधिवक्ता सोमिक देब के सहयोगी और कांग्रेस नेता स्थिति का जायजा लेने के लिए मौके पर पहुंचे। सुदीप रॉय बर्मन और आशीष कुमार साहा ने पिछले साल कांग्रेस में शामिल होने के लिए विधानसभा और भाजपा से इस्तीफा दे दिया था। साहा ने चेतावनी दी कि यदि बर्मन के निजी सुरक्षा कर्मचारियों और ड्राइवर पर हमले के अपराधियों को तुरंत गिरफ्तार नहीं किया गया तो कांग्रेस पार्टी विरोध प्रदर्शन करेगी।

ये भी पढ़ेंः पुलिस हिरासत में दो युवकों की आत्महत्या पर चकमा परिषद ने की न्यायिक जांच की मांग


उन्होंने कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल को सूचित किया कि हाल ही में डीजीपी से मुलाकात कर पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के लिए पर्याप्त सुरक्षा कवर की मांग की गई थी, जिन्हें 2019 में लोकसभा चुनाव के तुरंत बाद पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के मंत्रिमंडल से हटा दिया गया था। पुलिस ने कहा कि सुरक्षा कर्मचारी रमेश बिन के सिर पर चोट लगी है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने एक जांच शुरू की और हमलावरों को पकड़ने के प्रयास शुरू किए।