त्रिपुरा की भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-मार्क्सवादी (CPI-M) के नेता पाबित्रा कर के खैरपुर स्थित आवास पर उपद्रवियों के एक गिरोह ने हमला कर दिया है। CPI-M के एक वरिष्ठ नेता और पूर्व राज्य मंत्री पाबित्रा कर ने आरोप लगाया कि इस हमले के पीछे बीजेपी के गुंडे हैं। बता दें कि नेता के घर पर हमला करने के बाद उपद्रवियों द्वारा कथित रूप से 3 पत्रकारों पर भी हमला किया गया था, जब वे कवर करने के लिए पाबित्रा कर के निवास पर गए थे। उपद्रवियों ने उसी वक्त पत्रकारों पर हमला बोल दिया।


पाबित्रा कर ने आरोप लगाया कि जब मेरे आवास पर एक बैठक चल रही थी, जब सत्ताधारी भाजपा द्वारा समर्थित उपद्रवियों ने हमला किया। सत्ताधारी भाजपा ने इस हमले के लिए सत्ताधारी भाजपा को ज़िम्मेदार ठहराया। हमले में महिलाओं सहित कम से कम 20 CPI-M कार्यकर्ता कथित रूप से घायल हो गए है। घायलों में से 3 की हालत गंभीर है। गंभीर रूप से घायल हुए 3 CPI-M कार्यकर्ताओं शुभा कुमार देब, रतन दास और पिनाक दास है। गंभीर रूप से घायल हुए लोगों को एक फायर टेंडर में अस्पताल ले जाया गया है।


उल्लेखनीय है कि हमले में कई मोटरसाइकिल और अन्य पार्टी वाहन क्षतिग्रस्त हो गए है। घटना की जानकारी प्राप्त करने के बाद, स्थानीय पुलिस स्टेशन के पुलिस कर्मियों के साथ अर्धसैनिक बल के जवान घटनास्थल पर पहुंचे और स्थिति को नियंत्रण में लाया। घर पर जब हमला हो रहा था तो इस बीच फोटोग्राफर पर कथित तौर पर हमला किया गया था और उसका कैमरा नष्ट कर दिया। खैबरपुर में भाजपा नेताओं ने पाबित्रा कर द्वारा लगाए गए आरोपों का खंडन किया है। इन्होंने कहा कि भाजपा के पास पबित्रा कर के निवास पर हमले से कोई लेना-देना नहीं है।